ममता बनर्जी के कथित ऑडियो पर राजनीति तेज, जानें क्यों मचा है बवाल

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ट्वीट किया ऑडियो, टीएमसी बोली- गलत जानकारी फैलाने की गई है कांटछांट

Published
ममता बनर्जी
i

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का अपने एक प्रत्याशी के साथ कथित बातचीत का एक ऑडियो सामने आने के बाद विवाद हो गया है. लेकिन टीएमसी ने दावा किया है कि ऑडियो में गलत जानकारी फैलाने के लिए बीजेपी द्वारा कांटछांट की गई है.

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, इस ऑडियो में बनर्जी, अपने प्रत्याशी से 10 अप्रैल को कूच बिहार में सुरक्षाकर्मियों द्वारा फायरिंग में मारे गए चार लोगों के शवों के साथ रैली करने को कह रही हैं.

इस ऑडियो क्लिप पर राजनीति भी तेज हो चुकी है. बीजेपी प्रमुख जे पी नड्डा ने ऑडियो को ट्वीट करते हुए लिखा, "टीएमसी गिद्ध राजनीति का प्रतिनिधित्व कर रही है. छोटे-छोटे राजनीतिक लाभों के लिए मृतकों के शरीर को चारा बना रही है. टीएमसी को खुद पर शर्म आनी चाहिए."

बीजेपी आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय ने कहा कि यहां मुख्यमंत्री शवों के साथ अपने प्रत्याशी को रैली का बोलकर दंगे भड़काने की कोशिश कर रही हैं.

टीएमसी का पलटवार

इस कथित ऑडियो में ममता बनर्जी सितालकुची से प्रत्याशी पार्थ प्रतिम रे से बात कर रही हैं. रे ने इस ऑडियो को 'बोगस' करार दिया. उन्होंने कहा, "हमारे बीच इस तरह की बातचीत नहीं हुई. यह बोगस क्लिप है. पांचवे चरण के मतदान से पहले बीजेपी लोगों को भ्रमित करने की कोशिश कर रही है."

वहीं टीएमसी के सांसद शेखर रे ने बीजेपी पर गलत जानकारी फैलाने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा, "झूठ की फैक्ट्री के प्रबंधक बंगाली नहीं समझते और किसी ने भी उनके लिए इसका अनुवाद ठीक से नहीं किया. ममता बनर्जी औऱ उनके नेता के बीच हुई बातचीत में कुछ भी गलत नहीं था."

बता दें कूच बिहार के सितालकुची में एक पोलिंग बूथ पर चौथे चरण के दौरान हिंसा हो गई थी. सुरक्षाबलों की तरफ से की गई फायरिंग में उस दौरान चार लोगों की मौत हो गई थी.

पढ़ें यह भी: बंगाल विधानसभा चुनाव: 5वें फेज में आज 45 सीटों के लिए वोटिंग

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!