ADVERTISEMENTREMOVE AD

राजस्थान: BJP ने ‘फोन टैपिंग’ पर उठाए सवाल, CBI जांच की मांग

राजस्थान में सियासी घमासान के बीच बीजेपी ने कांग्रेस पर पलटवार किया है

Updated
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

राजस्थान में सियासी घमासान के बीच बीजेपी ने कांग्रेस पर पलटवार किया है. बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने 18 जुलाई को कहा, ''राजस्थान में हम कांग्रेस का राजनीतिक ड्रामा देख रहे हैं. ये षड्यंत्र, झूठ फरेब और कानून को ताक पर रखकर कैसे काम किया जाता है, उसका मिश्रण है.''

ADVERTISEMENTREMOVE AD

बता दें कि राजस्थान में जारी राजनीतिक रस्साकशी और विधायकों को प्रलोभन दिए जाने के आरोपों के बीच कांग्रेस ने 17 जुलाई को ऑडियो क्लिप का हवाला देते हुए केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता गजेंद्र सिंह शेखावत पर सीधा हमला बोला था.

ऐसे में अशोक गहलोत सरकार को निशाने पर लेते हुए पात्रा ने कहा, ''राज्य सरकार को जवाब देना चाहिए कि क्या वे फोन टैपिंग में संलिप्त हैं क्योंकि मुख्यमंत्री और उनके अन्य नेता कह रहे हैं कि ऑडियो प्रामाणिक है, जबकि एफआईआर में इसका जिक्र ''तथाकथित'' के तौर पर किया गया है.''

पात्रा ने कहा, ''हम कांग्रेस पार्टी और राजस्थान सरकार से पूछना चाहते हैं कि क्या अधिकारिक रूप से फोन टैपिंग की गई? अगर फोन टैपिंग की गई है तो क्या ये एक संवेदनशील और कानूनी मुद्दा नहीं है? क्या फोन टैपिंग के स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (SOP) का पालन किया गया?''

इसके साथ ही उन्होंने कहा,

‘’क्या आज राजस्थान में आपातकाल की स्थिति नहीं है? क्या राजस्थान में प्रत्येक व्यक्ति जिसका कोई भी सरोकार राजनीति है उसका फोन टैप किया जा रहा है? बीजेपी इस पूरे प्रकरण की CBI जांच की मांग करती है.’’
संबित पात्रा, बीजेपी प्रवक्ता

पात्रा ने कहा, ''राजस्थान की (नई) सरकार 2018 में बनी, अशोक गहलोत मुख्यमंत्री बने, उसके बाद एक कोल्ड वॉर की स्थिति कांग्रेस पार्टी की सरकार में बनी रही.''

इसके अलावा उन्होंने कहा, ''कल अशोक गहलोत ने खुद मीडिया के सामने आकर कहा है कि 18 महीने से मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री के बीच में वार्तालाप नहीं हो रहा था.''

कांग्रेस ने शेखावत को लेकर क्या कहा था?

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने 17 जुलाई को एक बयान जारी किया था, जिसमें कहा गया था, ''कल शाम को दो सनसनीखेज और चौंकाने वाले ऑडियो टेप मीडिया के माध्यम से सामने आए. इन ऑडियो टेप से तथाकथित तौर पर केंद्रीय कैबिनेट मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, कांग्रेस विधायक भंवर लाल शर्मा और बीजेपी नेता संजय जैन की बातचीत सामने आई है. इस तथाकथित बातचीत से पैसों की सौदेबाजी और विधायकों की निष्ठा बदलवाकर राजस्थान की कांग्रेस सरकार गिराने की मंशा और साजिश साफ है. यह लोकतंत्र के इतिहास का काला अध्याय है.''

इस मामले में 17 जुलाई को ही कांग्रेस चीफ व्हिप महेश जोशी की शिकायत पर एसओजी ने 2 एफआईआर दर्ज की थीं. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, एफआईआर में गजेंद्र सिंह, भंवर लाल शर्मा और संजय जैन के नाम हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

0
Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×