RLD ने थामा SP-BSP गठबंधन का हाथ,जयंत ने की अखिलेश से मुलाकात
RLD ने थामा SP-BSP गठबंधन का हाथ,जयंत ने की अखिलेश से मुलाकात

RLD ने थामा SP-BSP गठबंधन का हाथ,जयंत ने की अखिलेश से मुलाकात

राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने उत्तर प्रदेश में एसपी-बीएसपी गठबंधन में शामिल होने को लेकर अखिलेश यादव से मुलाकात की. मुलाकात के बाद आरएलडी ने साफ किया कि उनकी पार्टी एसपी-बीएसपी गठबंधन का हिस्सा रहेगी. आरएलडी कितनी सीटों पर उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव लड़ेगी, इस पर अभी फैसला नहीं हुआ है.

अखिलेश यादव से मुलाकात के बाद जयंत चौधरी ने बताया कि उनकी मुलाकात सफल रही. जयंत ने मुलाकात की एक तस्वीर अल्लामा इकबाल के एक शेर साथ ट्विटर पर शेयर भी किया.

कैसे होगा सीटों का बंटवारा

सीटों के बंटवारों को लेकर अभी कोई फैसला नहीं हुआ है. वैसे पार्टी अपनी 6 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ने के पूर्व में दिये गये बयान पर कायम है. एसपी बीएसपी ने पहले ही दो सीटों को छोड़ कर सभी सीट आपस में तय कर लिया है.

ऐसी उम्मीद है कि आरएलडी चीफ अजि‍त सिंह मुजफ्फरनगर सीट से और जयंत चौधरी बागपत से चुनाव लड़ेंगे. अगर आरएलडी को 6 से ज्यादा सीटें मिलती हैं, तो कुछ सीटों पर एसपी के उम्मीदवार को आरएलडी के चुनाव चिह्न पर चुनाव लड़ना पड़ सकता है.

आरएलडी का गठबंधन पर असर

ग्राफ के जरिए पश्चिमी यूपी के उन 6 सीटों का समीकरण समझिए जहां पर आरएलडी की मजबूत पकड़ है.

मुजफ्फरनगर

बागपत

मथुरा

हाथरस

पश्चिमी यूपी में सीटों को लेकर मायावती की अनिच्‍छा को देखते हुए महागठबंधन में आरएलडी के आने में देरी हुई. पश्चिमी यूपी के कई सीटों पर बीएसपी और आरएलडी के बीच कांटे की टक्कर है. 2009 के लोकसभा चुनाव में ये दोनों पार्टियां पश्चिमी यूपी की 6 सीटों पर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी थी.

फिलहाल एसपी-बीएसपी गठबंधन में आरएलडी को दो सीटें देने की बात की गई है,लेकिन आरएलडी ज्यादा सीटों की मांग कर रहा है.

ये भी पढ़ें : कर्नाटक में कुमारस्वामी के खिलाफ ‘ऑपरेशन कमल 3.0’ क्या है?

(सबसे तेज अपडेट्स के लिए जुड़िए क्विंट हिंदी के WhatsApp या Telegram चैनल से)

Follow our पॉलिटिक्स section for more stories.

    वीडियो