ADVERTISEMENT

BJP, संबित पर ट्विटर की सर्जिकल स्ट्राइक-टूलकिट ट्वीट को कहा ‘झूठ’

अगर कोई पोस्ट तथ्यात्मक रूप से सही नहीं होता है तो ट्विटर उसपर Manipulated Media का लेबल लगाता है.

Updated
BJP, संबित पर ट्विटर की सर्जिकल स्ट्राइक-टूलकिट ट्वीट को कहा ‘झूठ’
i

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

ट्विटर ने बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा के एक पोस्ट को ‘मैनिपुलेटेड’ बताया है, यानि संबित पात्रा का ट्वीट तथ्यात्मक रूप से सही नहीं है. दरअसल, संबित पात्रा ने कांग्रेस पर पीएम मोदी की छवि खराब करने के लिए एक कथित टूलकिट बनाने का आरोप लगाया था. संबित पात्रा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक फोटो शेयर की थी, साथ ही कांग्रेस का एजेंडा बताया था. अब इसी ट्वीट को ट्विटर ने गलत करार दिया है.

ADVERTISEMENT

क्या है पूरा मामला?

18 मई को बीजेपी ने कांग्रेस पार्टी पर एक लेटर शेयर कर आरोप लगाया, जिसमें बीजेपी ने कहा कि कोरोना महामारी के बहाने संगठित तौर पर पीएम मोदी की छवि को नुकसान पहुंचाने के लिए कैंपेन चलाया जा रहा है. कई बीजेपी नेताओं ने ट्विटर पर एक लेटर शेयर कर कहा कि कांग्रेस का एजेंडा भारत के प्रति नफरत से प्रेरित है.

संबित पात्रा ने भी अपने ट्वीट में दावा किया कि कांग्रेस एक PR एक्सरसाइज कर रही है, जिसके जरिए कुछ बुद्धिजीवियों और पत्रकारों की मदद से सरकार के खिलाफ माहौल बनवाया जा रहा है.

बीजेपी नेताओं ने जो डॉक्युमेंट ट्विटर पर शेयर किया उसका टाइटल है - ‘Cornering Narendra Modi and BJP on COVID management’ हिंदी अनुवाद - कोविड मैनेजमेंट को लेकर नरेंद्र मोदी और बीजेपी का घेराव.

बीजेपी नेताओं ने जो तस्वीर शेयर की है वो एक लेटरहेड है, जिसपर कांग्रेस पार्टी लिखा दिख रहा है. वायरल लेटर में कुंभ को ‘धर्म के नाम पर राजनीति से प्रेरित एक समारोह’ और ‘ईद को खुशनुमा सोशल गैदरिंग’ की तरह दिखाने को कहा गया है. कांग्रेस ने टूलकिट बनाए जाने के आरोपों का खंडन किया है.

ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी (AICC) के रिसर्च डिपार्टमेंट के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव गौड़ा ने ट्वीट कर कहा कि बीजेपी कोविड मिसमैनेजमेंट से जुड़ी एक फेक ‘टूलकिट’ को फैला रही है.

क्या है ट्विटर का मैनिपुलेटेड मीडिया?

ट्विटर की सिंथेटिक और मैनिपुलेटेड मीडिया पॉलिसी के मुताबिक, ट्विटर ने अपने प्लेटफॉर्म पर पोस्ट किए गए कंटेंट को अगर भ्रामक या तोड़-मरोड़कर पेश किया गया पाता है तो उसे रेड-फ्लैग कर देता है और उस पोस्ट के नीचे ‘Manipulated Media’ लिखा होता है.

किसान आंदोलन से जुड़े अमित मालीवया के ट्वीट को ट्विटर ने बताया था ‘Manipulated Media’

बता दें कि इससे पहले किसान आंदोलन की शुरुआत में ट्विटर ने बीजेपी आईटी सेल के प्रभारी अमित मालवीय द्वार पोस्ट एक वीडियो को मैनिपुलेटेड करार दे दिया था. अमित मालवीय ने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया था जिमसें एक पुलिसकर्मी एक बुजुर्ग को लाठी दिखाते नजर आ रहा है.

28 नवंबर 2020 को, मालवीय ने कांग्रेस नेता के एक ट्वीट को कोट किया था और कहा था, "राहुल गांधी को सबसे बदनाम विपक्षी नेता कहा जाना चाहिए, जिन्हें भारत ने लंबे समय से देखा है." मालवीय ने 'प्रोपेगैंडा वर्सेस रियलिटी' के सब हेडिंग के साथ वीडियो क्लिप भी अटैच किया, जिसमें दावा किया गया कि पुलिसकर्मी ने किसान को छुआ तक नहीं.

हालांकि, घटना की और क्लिप्स से पता चला कि किसानों को अर्धसैनिक बलों द्वारा मारा गया था, जब वे दिल्ली-हरियाणा सीमा पर आंदोलन कर रहे थे.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
450

500 10% off

1620

1800 10% off

4500

5000 10% off

or more

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह

गणतंत्र दिवस स्पेशल डिस्काउंट. सभी मेंबरशिप प्लान पर 10% की छूट

मेंबर बनने के फायदे
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×