ADVERTISEMENTREMOVE AD

राहुल गांधी के समर्थन में केजरीवाल,"कांग्रेस से मतभेद लेकिन ऐसे फंसाना ठीक नहीं"

प्रियंका गांधी बोलीं,डरी हुई सत्ता की पूरी मशीनरी साम, दाम, दंड, भेद लगाकर राहुल गांधी की आवाज दबाने की कोशिश में है

Published
न्यूज
3 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

मानहानि मामले में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को 2 साल कैद की सजा हुई है, हालांकि उन्हें 30 दिन के लिए जमानत भी दे दी गई. उन्होंने 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान एक रैली में पीएम मोदी (PM Modi) के सरनेम को लेकर टिप्पणी की थी जिसके बाद उनके खिलाफ मुकादमा दायर हुआ था.

राहुल ने ट्वीट किया, "मेरा धर्म सत्य और अहिंसा पर आधारित है. सत्य मेरा भगवान है, अहिंसा उसे पाने का साधन. - महात्मा गांधी".

बीजेपी के नेताओं ने इस फैसले का स्वागत किया वहीं कांग्रेस ने न्यायपालिका पर बीजेपी के दबाव का आरोप लगाया.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

"वे (राहुल गांधी) बार-बार गलत बोलते हैं, ये सबको पता चल गया है"

बीजेपी विधायक पूर्णेश मोदी ने कहा कि, "मैं अदालत के फैसले का स्वागत करता हूं". इन्होंने ही 2019 में कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ शिकायत दर्ज की थी.

केंद्रीय राज्य मंत्री दर्शना जरदोश ने कहा कि, "आज संसद में कांग्रेस हंगामा कर रही थी कि राहुल गांधी को बोलने दिया जाए जबकि राहुल गांधी यहां मौजूद भी नहीं थे...कोर्ट ने अब तय कर लिया है सजा तो उन्हें मिलेगी. वे (राहुल गांधी) बार-बार गलत बोलते हैं, ये सबको पता चल गया है."

"राहुल गांधी ने चुनाव से पहले सारे मोदी चोर हैं का बयान दिया था, इस बयान के बाद से मोदी सरनेम रखने वाले कई लोगों ने उनके खिलाफ मानहानि का मामला दर्ज कराया. सूरत जिला अदालत के साथ ही बाकी अदालतों में भी उन्हें ऐसे ही सजा सुनाई जानी चाहिए."
बीजेपी सांसद सुशील कुमार मोदी
0

राहुल गांधी को सच बोलने की, तानाशाह के खिलाफ आवाज बुलंद करने की सजा मिल रही है: जयराम रमेश 

इस मामले पर प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया, "डरी हुई सत्ता की पूरी मशीनरी साम, दाम, दंड, भेद लगाकर राहुल गांधी जी की आवाज को दबाने की कोशिश कर रही है. मेरे भाई न कभी डरे हैं, न कभी डरेंगे. सच बोलते हुए जिये हैं, सच बोलते रहेंगे. देश के लोगों की आवाज उठाते रहेंगे. सच्चाई की ताकत व करोड़ों देशवासियों का प्यार उनके साथ है."

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा कि, "ये न्यू इंडिया है अन्याय के खिलाफ आवाज उठाओगे तो ईडी-सीबीआई, पुलिस, एफआईआर सबसे लाद दिए जाओगे. राहुल गांधी जी को भी सच बोलने की, तानाशाह के खिलाफ आवाज बुलंद करने की सजा मिल रही है. देश का कानून राहुल गांधी जी को अपील का अवसर देता है, वह इस अधिकार का प्रयोग करेंगे. हम डरने वाले नहीं."

ADVERTISEMENT

कांग्रेस से मतभेद, मगर राहुल गांधी को फंसाना ठीक नहीं: अरविंद केजरीवाल

सूरत कोर्ट के फैसले पर आम आदमी पार्टी के अध्यक्ष और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, "गैर बीजेपी नेताओं और पार्टियों पर मुकदमे करके उन्हें खत्म करने की साजिश हो रही है. हमारे कांग्रेस से मतभेद हैं मगर राहुल गांधी जी को इस तरह मानहानि मुकदमे में फंसाना ठीक नहीं. जनता और विपक्ष का काम है सवाल पूछना. हम अदालत का सम्मान करते हैं पर इस निर्णय से असहमत हैं."

वहीं राज्यसभा में विपक्ष के नेता और कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि, "उन्हें जमानत मिल गई है. ये (बीजेपी) लोग पहले जज को बदलते गए, हमें अंदाजा लग रहा था लेकिन हम कानून में विश्वास रखने वाले लोग हैं. कानून के तहत ही हम लड़ेंगे."

राजस्थान सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि, "आज न्यायपालिका पर दबाव है...राहुल गांधी की जो टिप्पणी है, ऐसी राजनीतिक टिप्पणी चलती रहती हैं. ऐसी टिप्पणियां अटल जी ने, आडवाणी जी ने पता नहीं कितनी की होंगी. लेकिन पहले इस तरह से मामला दर्ज नहीं होते थे. हमें विश्वास है कि आने वाले समय में सही फैसला होगा."

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि, "मीडिया को भी दबाने की कोशिश है, न्यायपालिका को प्रभावित करने की कोशिश है और राजनीतिक दल के लोगों पर इसी स्तर पर जाकर वो कार्रवाई कर रहे हैं."

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENTREMOVE AD
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×