ADVERTISEMENTREMOVE AD

यूट्यूबर मनीष कश्यप के खिलाफ वारंट जारी, 4 बैंक अकाउंट के 42 लाख रुपए फ्रीज

Manish Kashyap Fake News Case: मनीष कश्यप और युवराज सिंह की गिरफ्तारी के लिए एक विशेष टीम का गठन किया गया है.

Published
राज्य
2 min read
छोटा
मध्यम
बड़ा
ADVERTISEMENTREMOVE AD

तमिलनाडु में काम कर रहे बिहारी मजदूरों को लेकर सोशल मीडिया पर भ्रामक वीडियो पोस्ट करने के मामले में यूट्यूबर मनीष कश्यप (Youtuber Manish Kashyap) की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. बिहार (Bihar) की आर्थिक अपराध इकाई को यूट्यूबर मनीष कश्यप और युवराज सिंह का अरेस्ट वारंट मिल गया है. इसके अलावा आर्थिक अपराध इकाई को मनीष कश्यप उर्फ त्रिपुरारी कुमार तिवारी के खिलाफ वित्तीय अनियमितता के भी सबूत मिले हैं.

0

मनीष कश्यप के 4 बैंक अकाउंट फ्रीज

आर्थिक अपराध इकाई ने मनीष कश्यप के चार बैंक अकाउंट को फ्रीज किया है, जिसमें कुल 42 लाख रुपए हैं. पुलिस का दावा है कि मनीष कश्यप के खिलाफ वित्तीय अनियमितता के भी सबूत मिले हैं.

मनीष कश्यप के इन चार बैंक अकाउंट को फ्रीज किया गया है:

  1. SBI के खाते में 3,37,496 रुपए

  2. IDFC BANK के खाते में 51,069 रुपए

  3. HDFC BANK के खाते में 3,37,463 रुपए

  4. SACHTAK Foundation के HDFC BANK के खाते में 34,85,909 रुपए

यूट्यूबर मनीष कश्यप और युवराज सिंह की गिरफ्तारी के लिए एक विशेष टीम का गठन किया गया है. बिहार पुलिस ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए अन्य राज्यों में भी छापेमारी की जा रही है.

गिरफ्तारी का फेक न्यूज

आर्थिक अपराध इकाई (EOU) ने मनीष कश्यप की गिरफ्तारी की गलत खबर प्रसारित करने के मामले में भी एक आरोपी को गिरफ्तार किया है. बता दें कि बीते दिनों मनीष कश्यप के नाम से संचालित ट्विटर हैंडल पर मनीष कश्यप की गिरफ्तारी की पुरानी तस्वीर पोस्ट की गई थी. इस पोस्ट को लेकर भ्रम फैलाने के आरोप में प्रशांत कुमार नाम के शख्स को (EOU) ने गिरफ्तार किया है. प्रशांत बक्सर के कृष्णाब्रह्मा थाने के बड़का ढकाइच का मूल निवासी है.

Manish Kashyap Fake News Case: मनीष कश्यप और युवराज सिंह की गिरफ्तारी के लिए एक विशेष टीम का गठन किया गया है.

बता दें कि, यूट्यूबर मनीष कश्यप और युवराज सिंह राजपूत पर तमिलनाडु में बिहारी मजदूरों से मारपीट और हिंसा की गलत और उन्माद फैलाने वाले वीडियो को वायरल करने का आरोप है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×