ADVERTISEMENTREMOVE AD

UP:लगातार दूसरे दिन नए कोरोना केस डेढ़ हजार से कम,रिकवरी रेट 96.9%

उत्तर प्रदेश में सोमवार तक कुल 16.91 लाख लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं, जिसमें 16.39 लाख लोग ठीक हो चुके हैं.

Updated
राज्य
2 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में उत्तर प्रदेश से अच्छी खबर है. लगातार दूसरे दिन डेली कोरोना केस के आंकड़े 1500 से कम रहे हैं. पिछले 24 घंटों के दौरान संक्रमण के नए मामले पीक से करीब 96.2 फीसदी घट गए हैं. 24 अप्रैल को 24 घंटे के दौरान आए रिकॉर्ड 38055 केस की तुलना में मंगलवार को यह घटकर 1317 पर आ गए. सोमवार को यह संख्या 1497 थी. इस तरह दूसरे भी संक्रमण के मामले डेढ़ हजार से नीचे रहे. इसी तरह सक्रिय केस घटकर 32578 पर आ गए. सोमवार को यह संख्या 37044 थी. 30 अप्रैल आए रिकॉर्ड केस (310783) की तुलना में यह 89.5 फीसद कम है. रिकवरी रेट सुधरकर 96.9 फीसद हो गई. सोमवार को यह 96.6 फीसद थी.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

16.91 लाख लोग कोरोना वायरस से हो चुके हैं संक्रमित

उत्तर प्रदेश में सोमवार तक कुल 16.91 लाख लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं, जिसमें 16.33 लाख रोगी स्वस्थ हो चुके हैं. अब तक कुल 20,497 लोगों की जान यह खतरनाक वायरस ले चुका है. अब सक्रिय केस घटकर 32578 हो गए हैं. बाकी मरीज कोविड-19 के सरकारी व प्राइवेट अस्पतालों में भर्ती हैं. अब तक प्रदेश में कुल 4.94 करोड़ लोगों की कोरोना जांच कराई जा चुकी है.

अभिभावकों के लिए स्पेशल वैक्सीनेशन सेंटर शुरू

इससे पहले राज्य के 23 जिलों में 18 से 44 साल के आयुवर्ग वालों के लिए वैक्सीनेशन ड्राइव चलाया जा रहा था. अब 1 जून से पूरे राज्य में वैक्सीनेशन शुरू हो चुका है. साथ ही 1 जून से ही अभिभावक स्पेशल वैक्सीनेशन केंद्र भी शुरू कर दिए गए हैं. हर जिले में कम से कम 2 ऐसे केंद्र बनाए गए हैं जहां ऐसे लोगों का वैक्सीनेशन किया जा रहा है जिनके बच्चों की आयु 12 वर्ष या उससे कम उम्र के हैं.

अब तक 1,48,51,890 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज़ और 34,80,426 लोगों को दूसरी डोज़ दी जा चुकी है। अब तक कुल मिलाकर 1,83,32,316 डोज दी जा चुकी है.

कोरोना की संभावित तीसरी लहर में बच्चों के संक्रमित होने के खतरे को देखते हुए पहले से ही मजबूत इंतजाम किए जा रहे हैं. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिए हैं कि बरसात के मौसम को देखते हुए बच्चों को विभिन्न बीमारियों से बचाने के लिए घर-घर दवाएं बांटी जाएं. मेडिकल किट को बांटने के लिए जरूरी इंतजाम जल्द पूरे किए जाएं. इसका वितरण हर हाल में 15 जून के बाद शुरू कर दिया जाए.

(इनपुट: IANS)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×