ADVERTISEMENTREMOVE AD

"कहीं 2-3 साल लटका न दें": UP पुलिस भर्ती परीक्षा रद्द, क्या बोले अभ्यर्थी?

UP Police Exam Cancelled: उत्तर प्रदेश पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा को छह माह के भीतर सही तरीके से दोबारा आयोजित करने के निर्देश दिए गए हैं.

Updated
न्यूज
4 min read
छोटा
मध्यम
बड़ा
ADVERTISEMENTREMOVE AD

“हम योगी जी का धन्यवाद करते हैं लेकिन उन्होंने हमारी मांग सुनने में काफी देर कर दी.”

यह कहना है यूपी के सुल्तानपुर के रोहित यादव का, जो उत्तर प्रदेश पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा के अभ्यर्थी हैं. उत्तर प्रदेश पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा को आखिरकार भारी विवाद के बीच रद्द (UP Police Constable Exam cancelled) कर दिया गया है. पेपर लीक के दावों के बीच सूबे के अभ्यर्थी परीक्षा को रद्द करने की मांग कर रहे थे. ऐसे में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 17 और 18 फरवरी को आयोजित इस पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा को रद्द करते हुए अगले छह माह के भीतर सही तरीके से दोबारा परीक्षा आयोजित करने के निर्देश दिए हैं.

0

परीक्षा के संबंध में जारी जांच और अब तक की कार्रवाई की समीक्षा करते हुए शनिवार, 24 फरवरी को मुख्यमंत्री योगी ने यह निर्णय लिया.

इसके साथ-साथ विवादों में चल रही सूबे की दूसरी परीक्षा- समीक्षा अधिकारी/सहायक समीक्षा अधिकारी (RO/ARO) की परीक्षा में धांधली की जांच शासन स्तर पर कराने का आदेश जारी किया है.

"कहीं परीक्षा 2-3 साल के लिए लटका न दिया जाए"

लखनऊ के इको पार्क में प्रदर्शन कर रहे तमाम अभ्यर्थियों में से एक, रोहित यादव ने बात करते हुए कहा, "हम पुलिस भर्ती परीक्षा को रद्द कराने के लिए लगातार ट्विटर पर कैंपेन चला रहे थे. दो दिन तक न्यूज वाले और नेता इसे (लीक के दावे को) भ्रामक बता रहे थे. नेता कह रहे थे कि विपक्ष इसपर राजनीति कर रहा है, भर्ती निष्पक्ष तरीके से कराई गयी है. लेकिन फिर मीडिया ने हमारा साथ दिया. अब शासन ने फिर से परीक्षा कराने के लिए 6 महीने का समय लिया है लेकिन इसकी जरूरत नहीं थी. जरूरी यह है कि पेपर लीक के दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए. ताकि आगे किसी परीक्षा में कोई गड़बड़ी न हो पाए."

"मेहनत करने वाले बच्चे मेहनत करते रह जाते हैं और जो चोर होते हैं वो नौकरी लेकर चले जाते हैं."
रोहित यादव, अभ्यर्थी

रोहित का कहना है कि सरकार को फिर से परीक्षा कराने के लिए 6 महीने का वक्त नहीं लेना चाहिए था. उन्हें डर है कि कहीं इसे 2-3 साल के लिए लटका न दिया जाए.

“हमारे यहां भर्तियों की पंचवर्षीय योजना चल रही है. पांच साल में एक बार भर्ती निकाली जा रही है. ज्वाइन करते-करते 6-7 साल का वक्त लग जाता है. 2017 में हुए लेखपाल की परीक्षा में आज तक भर्ती नहीं हुई है.”
रोहित यादव, अभ्यर्थी

वहीं इको गार्डन के प्रदर्शन में आए कुशीनगर के अभ्यर्थी देवानंद यादव का कहना है कि सरकार चाहे अब परीक्षा 6 महीने में कराए या फिर एक साल में, हमें अभी अच्छा लग रहा है. उन्होंने कहा कि अब वो जाकर परीक्षा की अच्छे से तैयारी करेंगे. साथ ही उन्होंने सरकार से यह भी अपील की है कि फिर से जब परीक्षा हो तो यह सुनिश्चित किया जाए कि किसी तरह की कोई धांधली न हो.

इलाहाबाद से आए अंकेश कुमार ने भी सरकार से अपील की है कि फिर से जब परीक्षा हो, वो पूरी तरह निष्पक्ष हो.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

6 महीने में फिर से होगी यूपी पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा

पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा को रद्द करते हुए मुख्यमंत्री योगी ने कहा है कि युवाओं की मेहनत से खिलवाड़ और परीक्षा की शुचिता से समझौता स्वीकार नहीं किया जा सकता. ऐसे अराजक तत्वों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई होनी तय है.

मुख्यमंत्री के निर्देश पर गृह विभाग ने परीक्षा निरस्त करने का आदेश भी जारी कर दिया है. जारी आदेश के मुताबिक 17 व 18 फरवरी, 2024 को संपन्न हुई पुलिस भर्ती परीक्षा के संबंध में मिले तथ्यों एवं सूचनाओं की जांच के आधार पर परीक्षा को रद्द करने का निर्णय लिया गया है.

शासन ने भर्ती बोर्ड को यह निर्देश दिए हैं कि जिस भी स्तर पर लापरवाही बरती गई है, उनके विरूद्ध FIR दर्ज कराकर कानूनी कार्रवाई सुनिश्चित की जाए. शासन ने मामले की जांच एसटीएफ से कराये जाने का निर्णय लिया है, दोषी पाए जाने वाले व्यक्तियों अथवा संस्थाओं के विरूद्ध कठोरतम कार्रवाई किए जाने के भी निर्देश दिए गए हैं.

UP Police Exam Cancelled: उत्तर प्रदेश पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा को छह माह के भीतर सही तरीके से दोबारा आयोजित करने के निर्देश दिए गए हैं.

शासन ने छह माह के अंदर पूरी सफाई के साथ फिर से परीक्षा आयोजित करने तथा उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की सेवा से अभ्यर्थियों को निःशुल्क सुविधा उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए हैं.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

RO/ARO परीक्षा में धांधली के आरोपों की भी होगी जांच

सीएम योगी ने उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा बीते 11 फरवरी को आयोजित की गई RO/ARO (प्रारंभिक) परीक्षा- 2023 से जुड़ी शिकायतों की भी जांच कराने का निर्णय लिया है. इस संबंध में अपर मुख्य सचिव नियुक्ति एवं कार्मिक ने आदेश भी जारी कर दिया है.

UP Police Exam Cancelled: उत्तर प्रदेश पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा को छह माह के भीतर सही तरीके से दोबारा आयोजित करने के निर्देश दिए गए हैं.

इसके मुताबिक बीते 11 फरवरी को आयोजित की गई RO/ARO परीक्षा 2023 के संबंध में शासन को संज्ञान में लाए गए तथ्यों एवं शिकायतों को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है कि परीक्षा के संबंध में प्राप्त शिकायतों का शासन स्तर पर परीक्षण किया जाए.

(इनपुट- अशहर असरार)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें