ADVERTISEMENTREMOVE AD

अशोक गहलोत का अधूरा वीडियो अमृतपाल के समर्थन में बोलने के भ्रामक दावे से वायरल

Fact Check: वीडियो के लंबे वर्जन में, अशोक गहलोत अमृतपाल सिंह की मांगों को 'खतरनाक' बताते नजर आ रहे हैं.

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

राजस्थान (Rajasthan) के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. वीडियो में उन्हें 'वारिस पंजाब दे' प्रमुख अमृतपाल सिंह (Amritpal Singh) से बारे में बात करते हुए देखा जा सकता है. दावा किया जा रहा है कि गहलोत अलगाववादी खालिस्तान आंदोलन का समर्थन कर रहे हैं.

वीडियो में गहलोत बोलते दिख रहे हैं, ''अमृतपाल सिंह बोल रहा है कि अगर ये हिंदू राष्ट्र की बात करते हैं तो मैं क्यों नहीं खालिस्तान की बात करूं? ये कितनी सटीक बात उसने कही है.''

ADVERTISEMENTREMOVE AD

किसने शेयर किया है वीडियो?: कई सोशल मीडिया यूजर्स के साथ-साथ BJP दिल्ली वाइस प्रेसीडेंट सुनील यादव ने भी वायरल वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया कि वोट हासिल करने के लिए कांग्रेस पार्टी ने 'इंदिरा गांधी की हत्या करने वाले खालिस्तानियों' का समर्थन करना शुरू कर दिया है.

(अन्य स्क्रीनशॉट देखने के लिए स्वाइप करें)

  • पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें

    (सोर्स: स्क्रीनशॉट/ट्विटर)

(ऐसे और भी पोस्ट के आर्काइव आप यहां और यहां देख सकते हैं.)

क्या गहलोत ने सच में अमृतपाल के समर्थन में बोला?: वीडियो का अधूरा हिस्सा शेयर कर भ्रामक दावा किया जा रहा है.

  • ओरिजनल वीडियो में गहलोत राजस्थान के भरतपुर में बोल रहे थे. जहां उन्होंने अमृतपाल की मांगों को 'खतरनाक' बताया.

  • उन्होंने कहा कि अमृतपाल के प्रोत्साहन के लिए बीजेपी की 'हिंदू राष्ट्र' की विचारधारा जिम्मेदार है.

0

हमने सच का पता कैसे लगाया?: कीवर्ड सर्च करने पर हमें Dainik Bhaskar की एक रिपोर्ट मिली, जिसमें वायरल वीडियो का ओरिजनल वर्जन था.

  • आर्टिकल का टाइटल था, ''गहलोत बोले- चुनाव में लोगों की जाने क्या भावना होगी:कहा- भागवत-मोदी हिंदू राष्ट्र की बात करते हैं, इसलिए अमृतपाल में हिम्मत आई''.

  • रिपोर्ट के मुताबिक, गहलोत ने बीजेपी और 'हिंदू राष्ट्र' की उसकी विचारधार पर निशाना साधा.

  • रिपोर्ट के मुताबिक, गहलोत ने ये बयान 31 मार्च को भरतपुर में संभाग स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन में दिया.

Fact Check: वीडियो के लंबे वर्जन में, अशोक गहलोत अमृतपाल सिंह की मांगों को 'खतरनाक' बताते नजर आ रहे हैं.

इस रिपोर्ट में गहलोत का वीडियो इस्तेमाल किया गया था.

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/Dainik Bhaskar)

ADVERTISEMENT
  • रिपोर्ट में इस्तेमाल किए गए वीडियो के 17वें सेकेंड पर गहलोत कहते हैं, ''मैं तो खुद इस बात से दुखी हुआ जब मैंने सुना कि अमृतपाल बोल रहा है कि अगर ये हिंदू राष्ट्र की बात करते हैं तो मैं क्यों न बात करूं खालिस्तान की. ये कितनी सटीक बात उसने कही है. ये बहुत खतरनाक बात है देश के लिए. इतिहास में पहली बार कोई बोला है कि ये हिंदू राष्ट्र की बात करते हैं तो मैं क्यों न करूं. कल को दक्षिण के राज्य के लोग भी यही बोलने लग जाएंगे. वहां 40-50 साल पहले ये बात उठी थी. नई पीढ़ी को ये मालूम नहीं है. हमें देश के भविष्य की चिंता करनी चाहिए.''

ADVERTISEMENTREMOVE AD

गहलोत के बयान से जुड़ी दूसरी रिपोर्ट: India Today और Hindustan Times जैसी कई न्यूज वेबसाइट पर बीजेपी के खिलाफ गहलोत के इस बयान पर रिपोर्ट छापी है.

  • India Today की 31 मार्च की रिपोर्ट के मुताबिक, गहलोत ने अमृतपाल जैसे अलगाववादियों के उदय के लिए कथित तौर पर बीजेपी की ''हिंदू राष्ट्र'' विचारधारा को दोषी ठहराया.

  • हमें ANI का 1 अप्रैल को किया गया एक ट्वीट भी मिला. इसमें गहलोत का एक अन्य वीडियो इस्तेमाल किया गया था, जिसमें गहलोत इस बारे में बात कर रहे थे कि भारत को धर्मनिरपेक्षता कैसे बनाए रखनी चाहिए.

ADVERTISEMENT
  • इस वीडियो में गहलोत कहते हैं, ''अमृतपाल कह रहा है कि अगर मोहन भागवत और पीएम मोदी 'हिंदू राष्ट्र' की बात करते हैं तो मैं खालिस्तान की बात क्यों नहीं कर सकता? उसकी हिम्मत क्यों हुई है? इसलिए हुई है आप हिंदू राष्ट्र की बात कैसे कर सकते हो? धर्म के नाम पर लोगों को खुश करना आसान काम होता है. आग लगाना आसान है, उसे बुझाने में वक्त लगता है.''

निष्कर्ष: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के भाषण का छोटा हिस्सा शेयर कर इस भ्रामक दावे से वायरल किया जा रहा है कि उन्होंने अमृतपाल का समर्थन किया.

(अगर आपके पास भी ऐसी कोई जानकारी आती है, जिसके सच होने पर आपको शक है, तो पड़ताल के लिए हमारे वॉट्सऐप नंबर 9643651818 या फिर मेल आइडी webqoof@thequint.com पर भेजें. सच हम आपको बताएंगे. हमारी बाकी फैक्ट चेक स्टोरीज आप यहां पढ़ सकते हैं)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENTREMOVE AD
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×