इधर राजनीति में प्रियंका की एंट्री, उधर बन गए फर्जी ट्विटर हैंडल

फिलहाल प्रियंका गांधी वाड्रा के पास कोई आधिकारिक ट्विटर हैंडल नहीं है.

Updated28 Feb 2019, 07:44 AM IST
वेबकूफ
4 min read

पूर्वी उत्तर प्रदेश की कांग्रेस महासचिव के तौर पर प्रियंका गांधी वाड्रा के सक्रिय राजनीति में प्रवेश को आगामी आम चुनावों से पहले एक बड़ा एजेंडा तय करने वाले कारक के रूप में देखा जा रहा है. सोशल मीडिया, जो आजकल राजनीतिक जंग का अखाड़ा बन चुका है, वहां भी इस नए हेवीवेट पहलवान की दस्तक से गर्माहट महसूस हो रही है.

ऐसा लगता है कि प्रियंका गांधी के राजनीति में प्रवेश की वजह से उनके बहुत सारे फर्जी और नकली सोशल मीडिया हैंडल बन गए हैं. आइये पहले तथ्यों पर नजर डालते हैं और फिर करते हैं एक केस स्टडी.

फिलहाल मौजूदा समय में प्रियंका गांधी वाड्रा का कोई भी आधिकारिक सोशल मीडिया हैंडल नहीं है.

हालांकि, जब से वह अपनी नई भूमिका में आई हैं, तब से कई फेक 'प्रियंका गांधी' ट्विटर पर सक्रिय हो गई हैं और कई बार तो इन हैंडल्स ने हदें भी पार कर दी.

यहां पेश है इसका एक उदहारण:

दावा

गुरुवार, 7 फरवरी को Modi Government नाम के एक फेसबुक पेज ने @PriyankagaINC नाम के एक ट्विटर हैंडल के एक ट्वीट का स्क्रीनशॉट पोस्ट किया, जिसमें कुम्भ मेले में शाही स्नान पर किये गए खर्चे की आलोचना की गयी थी.

यह है कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी जो आज लखनऊ से अपनी पारी की शुरुआत करने जा रहे हैं जो साधु संतों को ढोंगी और पाखंडी बता रही हैं इनको सबक सिखाना जय माता दी

Posted by Modi Government on Wednesday, February 6, 2019

असल ट्वीट कुछ इस प्रकार है: “भारत मूर्खो का देश है जहां सरकार लोगो के पीने के पानी पर नही बल्कि ढोंगी और पाखंडियों के शाही स्नान पे करोड़ों का खर्च करती है.”

सही या गलत

इस दावे को गलत तरीके से प्रियंका गांधी वाड्रा के मत्थे मढ़ा गया है क्योंकि उनसे पास तो कोई अधिकारिक सोशल मीडिया हैंडल ही नहीं है. इसके अलावा आगे की छानबीन पर क्विंट को पता चला कि यहां इस्तेमाल किये गए ट्विटर हैंडल के क्रेडेंशियल्स हाल ही में बदल दिए गए हैं.

पड़ताल में क्या पता चला

जिस समय इस आर्टिकल को लिखा गया था, तब तक Modi Government फेसबुक पेज पर इस पोस्ट के 613 शेयर हो चुके थे.

हालांकि, सबसे ज्यादा चौंकाने वाली बात यह थी कि जिस ट्विटर हैंडल के यह स्क्रीनशॉट लेकर शेयर किए गए थे उसके हैंडल नाम, प्रोफाइल नाम और डिस्प्ले पिक्चर को बदला जा चुका है.

ट्विटर पर @PriyankagaINC के हैंडल नाम (जैसा कि स्क्रीनशॉट में देखा जा सकता है) से सर्च करने पर एक ब्रोकेन लिंक के साथ ‘Sorry, the page doesn’t exist’ लिखा हुआ दिखाई देता है.

इधर राजनीति में प्रियंका की एंट्री, उधर बन गए फर्जी ट्विटर हैंडल

हालांकि, अगर कोई व्यक्ति @PriyankagaINC को किए गए रिप्लाई पर अपना कर्सर ले जाता है तो यह @Priyanka_G_VINC नाम के एक दूसरे हैंडल का सुझाव देता है.

इधर राजनीति में प्रियंका की एंट्री, उधर बन गए फर्जी ट्विटर हैंडल

क्विंट ने उस ट्वीट को भी ढूंढ लिया जिसका स्क्रीनशॉट वायरल हुआ.

इस तरह से, यह कहा जा सकता है कि ट्वीट करने के बाद इस ट्विटर हैंडल की पहचान बदल दी गई है.

ट्विटर पर केवल एक ‘प्रियंका गांधी’ नहीं हैं

यहां पर जिस ट्विटर अकाउंट का जिक्र किया गया है वह माइक्रो ब्लॉगिंक साइट पर प्रियंका गांधी वाड्रा के नाम से चल रहे कई अकाउंटों में से एक है. अगर ट्विटर पर नव नियुक्त कांग्रेस महासचिव के नाम से सर्च किया जाता है तो प्रियंका गांधी वाड्रा के नाम से चल रहे अकाउंटों की एक पूरी लिस्ट सामने आ जाती है. ये इस बात को सच साबित करती है.

उनमें से कुछ उनके फैन पेज हैं. इसे देखें:

इधर राजनीति में प्रियंका की एंट्री, उधर बन गए फर्जी ट्विटर हैंडल

दूसरे फर्जी अकाउंट भी हैं. यह इसका उदहारण है:

इधर राजनीति में प्रियंका की एंट्री, उधर बन गए फर्जी ट्विटर हैंडल

इस तरह के अन्य हैंडल कोई भी डिस्क्लेमर नहीं देते हैं, इसलिए उनको गलत या फेक माना जा सकता है.

@_PriyankaG हैंडल को ही देख लीजिए जिसके 23,000 से ज्यादा फॉलोअर हैं.

इधर राजनीति में प्रियंका की एंट्री, उधर बन गए फर्जी ट्विटर हैंडल

एक अन्य हैंडल @OfficialWithPG अपने बायो में प्रियंका गांधी का आधिकारिक हैंडल होने का दावा करता है और इसको परंजय गुहा ठाकुरता, श्रीनिवासन जैन और राजदीप सरदेसाई जैसे वरिष्ठ पत्रकारों ने फॉलो कर रखा है.

इधर राजनीति में प्रियंका की एंट्री, उधर बन गए फर्जी ट्विटर हैंडल

कांग्रेस पार्टी के एक उच्च पदस्थ सूत्र ने क्विंट से बात करते हुए बताया कि फिलहाल प्रियंका गांधी वाड्रा के पास कोई ऑफिशियल ट्विटर हैंडल नहीं है.

ये भी पढ़ें - क्या मोदी सरकार ने ग्रामीण इलाकों में बनवाए हैं 1 करोड़ 30 लाख घर?

(अगर आप सोशल मीडिया से मिली किसी जानकारी को लेकर असंतुष्ट हैं और उसको सत्यापित करना चाहते हैं तो हमें 9910181818 नंबर पर WhatsApp करें.  हम उसकी जांच करेंगे. आप हमारी फैक्ट चेक की अन्य कहानियों को भी यहां पर पढ़ सकते हैं.)

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 08 Feb 2019, 10:17 AM IST

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर को और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!