ADVERTISEMENTREMOVE AD

PM Modi ने नहीं कहा 'चुनाव में बैलेट पेपर EVM से बेहतर',अधूरा है वीडियो

पीएम मोदी का ये अधूरा वीडियो इसके पहले 2019, 2021 और 2022 में भी वायरल हो चुका है.

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है, जिसमें वो लोगों को संबोधित करते दिख रहे हैं. वीडियो में पीएम को ये कहते हुए सुना जा सकता है, '' दुनिया के पढ़े लिखे देशों में भी जब चुनाव होता है तो लोग बैलेट पेपर पर नाम पढ़ करके फिर ठप्पा मारते हैं आज भी अमेरिका में भी.''

दावा : 20 सेकेंड का ये वीडियो शेयर कर दावा किया जा रहा है कि पीएम मोदी ने चुनाव में वोटिंग के लिए ईवीएम की जगह बैलेट पेपर को बेहतर बताया है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD
पीएम मोदी का ये अधूरा वीडियो इसके पहले 2019, 2021 और 2022 में भी वायरल हो चुका है.

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)

ये वीडियो  20192021 और 2022 में भी शेयर हो चुका है.

सच क्या है?: वायरल वीडियो प्रधानमंत्री के भाषण के एक लंबे वीडियो का अधूरा हिस्सा है. ये भाषण दिसंबर 2016 का है, जिसमें पीएम मोदी उत्तरप्रदेश के मुरादाबाद में एक चुनावी सभा को संबोधित कर रहे हैं. असल में पूरे वीडियो में प्रधानमंत्री भारतीयों की तुलना विकसित देशों के वोटरों से करते हुए भारतीयों को श्रेष्ठ बता रहे हैं, क्योंकि वो वोटिंग ईवीएम से करते हैं.

हमने सच का पता कैसे लगाया? : हमने InVid का इस्तेमाल कर वीडियो के कई कीफ्रेम निकाले और उनमें से कुछ पर रिवर्स इमेज सर्च किया.

  • BJP के वेरिफाइड ट्विटर अकाउंट पर 3 दिसंबर 2016 का एक ट्वीट हमें मिला. इस ट्वीट में शेयर की गई तस्वीर दावे में इस्तेमाल किए गए वीडियो से मिलती-जुलती थीं.

पीएम मोदी का ये अधूरा वीडियो इसके पहले 2019, 2021 और 2022 में भी वायरल हो चुका है.

दोनों तस्वीरों में समानता दिख रही है.

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)

  • इसी अकाउंट से किया गया एक और ट्वीट मिला, जिसमें पार्टी के ऑफिशियल पेज पर एक 'लाइव' फेसबुक वीडियो का लिंक इस्तेमाल किया गया था. इस लाइव वीडियो से पुष्टि हुई कि ये वीडियो 2017 के विधानसभा चुनाव का है.

  • वीडियो में 37 मिनट 37 सेकंड के बाद वो हिस्सा देखा जा सकता है, जो सोशल मीडिया पर वायरल है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD
  • इस भाषण में पीएम मोदी अपनी सरकार की उपलब्धियां गिना रहे थे. 37 मिनट के बाद वो कहते हैं ''कुछ लोग कहते हैं कि हमारा देश गरीब और अशिक्षित है, हमारे लोगों को कुछ भी पता नहीं है. लेकिन मेरे भाइयों और बहनों, यहां तक कि अमेरिका जैसे पढ़े-लिखे देश भी अपने चुनावों में बैलेट पेपर का इस्तेमाल करते हैं. लेकिन, हमारे यहां भारत में जिसे आप गरीब और अनपढ़ कहते हैं, लोग बटन दबाकर वोट डालते हैं.''

  • भाषण के आखिर में, मोदी इस बारे में बात करते हैं कि कैसे गरीब भारतीयों की मेहनत और ईमानदारी देश को आगे ले जाएगी. और तकनीक से ये काम आसान हो जाएगा.

    वो आगे कहते है कि देश में 40 करोड़ स्मार्टफोन हैं और भारतीय ''विकास को आसानी स्वीकार करते हैं'' इसलिए वो तेजी से तकनीक के अनुकूल होंगे.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

निष्कर्ष: साफ है कि पीएम मोदी का 2016 के वीडियो का अधूरा हिस्सा इस गलत दावे से शेयर किया जा रहा है कि उन्होंने बैलेट पेपर से वोटिंग को ईवीएम से बेहतर बताया.

(अगर आपके पास भी ऐसी कोई जानकारी आती है, जिसके सच होने पर आपको शक है, तो पड़ताल के लिए हमारे वॉट्सऐप नंबर 9643651818 या फिर मेल आइडी webqoof@thequint.com पर भेजें. सच हम आपको बताएंगे. हमारी बाकी फैक्ट चेक स्टोरीज आप यहां पढ़ सकते हैं)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×