ADVERTISEMENT

Fact Check: राहुल गांधी ने ED को लेकर नहीं किया ये ट्वीट, फर्जी है स्क्रीनशॉट

Rahul Gandhi के नाम से वायरल इस फर्जी ट्वीट में वो ED को चुनौती देते नजर आ रहे हैं.

Published
Fact Check: राहुल गांधी ने ED को लेकर नहीं किया ये ट्वीट, फर्जी है स्क्रीनशॉट
i

सोशल मीडिया पर कांग्रेस (Congress) नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के ट्वीट का बताकर एक स्क्रीनशॉट शेयर किया जा रहा है. स्क्रीनशॉट में दिखाया गया है कि राहुल गांधी ने ईडी को चुनौती देते हुए लिखा कि वो कभी झुकेंगे नहीं. वहीं ट्वीट के आखिर में पुष्पा फिल्म का मशहूर डायलॉग हैशटेग में लिखा हुआ है #MeinJhukegaNahi.

ADVERTISEMENT

ये स्क्रीनशॉट ऐसे वक्त पर वायरल है जब हाल में राहुल गांधी से की गई ED की पूछताछ का मामला काफी सुर्खियों में रहा और कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय नेताओं ने इस पूछताछ का विरोध किया था.

हमारी पड़ताल में ये स्क्रीनशॉट एडिटेड निकला. राहुल गांधी की ट्विटर टाइमलाइन पर ऐसा कोई ट्वीट हमें नहीं मिला. वहीं वायरल स्क्रीनशॉट को राहुल के असली ट्वीट के फॉर्मेट से मिलाकर देखने पर भी साफ हो रहा है कि ये फर्जी है.

दावा

राहुल गांधी के बताए जा रहे ट्वीट के स्क्रीनशॉट में लिखा है : ''ED मुझे झुकाना चाहती है लेकिन मैं झुकूंगा नहीं. मुझे सब मालूम है वो क्या करना चाहते हैं #MeinJhukegaNahi.''

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/ट्विटर)

ये स्क्रीनशॉट कई यूजर्स ने फेसबुक और ट्विटर दोनों जगह शेयर किया है. इनमें से कुछ के आर्काइव आप यहां, यहां और यहां देख सकते हैं.

ADVERTISEMENT

पड़ताल में हमने क्या पाया

सबसे पहले हमने राहुल गांधी का ट्विटर हैंडल चेक किया, ताकि ये पता कर सकें कि क्या उन्होंने 16 जून, 2022 को ऐसा कोई ट्वीट किया था. हमें इस तारीख को किया गया उनका ऐसा कोई ट्वीट नहीं मिला. 16 जून को राहुल गांधी ने अग्निपथ योजना को लेकर सिर्फ एक ट्वीट किया था.

हमने वेब आर्काइव टूल Wayback Machine पर भी चेक किया, लेकिन हमें इस तरह के किसी भी ट्वीट का कोई आर्काइव नहीं मिला.

वायरल ट्वीट में हैं कई गलतियां

वायरल ट्वीट में स्पेलिंग की कई गलतियां हैं, जैसे 'ED मुझे झुकाना चाहती हैं' में 'हैं' की जगह 'है' होना चाहिए.

'झुकूँगा नहीँ' की जगह या तो 'झुकूँगा नहीं' या फिर 'झुकूंगा नहीं' होना चाहिए.

वायरल ट्वीट में स्पेलिंग की गलतियां

(फोटो: Altered by The Quint)

इसके अलावा, हमने राहुल गांधी के कई पुराने ट्वीट देखे. हमें सबमें एक जैसा पैटर्न मिला कि उनके ट्वीट आईफोन से किए जाते हैं, जबकि वायरल ट्वीट एंड्रॉयड से किया गया दिखा रहा है. हालांकि, ये एलीमेंट काफी नहीं है. क्योंकि ट्वीट एंड्रॉयड और आईफोन दोनों से किए जा सकते हैं. लेकिन, हमें वायरल ट्वीट में ट्विटर की ओर से दी गई सुविधाओं से जुड़ी खामियां भी दिखीं.

हमने राहुल गांधी के ओरिजिनल ट्वीट और उनके नाम पर वायरल ट्वीट के बीच तुलना की, तो हमें और भी कई असमानताएं दिखीं. जिन्हें आप नीचे देख सकते हैं.

बाएं ओरिजिनल ट्वीट, दाएं वायरल ट्वीट

(फोटो: Altered by The Quint)

ऊपर ओरिजिनल ट्वीट में देखा जा सकता है कि ट्विटर टेक्स्ट के एकदम नीचे 'Translate Tweet' का ऑप्शन देता है, जो कि वायरल ट्वीट में नहीं है.

साथ ही, ओरिजिनल ट्वीट में दिख रहा है कि रिट्वीट और लाइक के बीच कोट रिट्वीट का ऑप्शन दिया गया है, जो वायरल ट्वीट में नदारद है.

ओरिजिनल ट्वीट में डेट और टाइम के बीच में एक डॉट बना है, जबकि वायरल ट्वीट में वो भी मौजूद नहीं है.

ADVERTISEMENT

मतलब साफ है कि राहुल गांधी के नाम पर एक ट्वीट का फर्जी स्क्रीनशॉट शेयर कर ये झूठा दावा किया जा रहा है कि राहुल गांधी ने ED को चुनौती दी है.

ED से जुड़े मामले में पूछताछ के लिए कई बार पेश हो चुके हैं राहुल

बता दें कि नेशनल हेराल्ड अखबार (National Herald Newspaper) से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) सोमवार, 20 जून 2022 को ED के सामने चौथी बार पेश हुए हैं.

ED ने राहुल को 17 जून को फिर से पेश होने के लिए कहा था, लेकिन उन्होंने अपनी मां सोनिया गांधी की बीमारी का हवाला देते हुए ईडी से अपनी पूछताछ स्थगित करने का अनुरोध किया था.

(अगर आपके पास भी ऐसी कोई जानकारी आती है, जिसके सच होने पर आपको शक है, तो पड़ताल के लिए हमारे वॉट्सऐप नंबर 9643651818 या फिर मेल आइडी webqoof@thequint.com पर भेजें. सच हम आपको बताएंगे. हमारी बाकी फैक्ट चेक स्टोरीज आप यहां पढ़ सकते हैं )

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×