ADVERTISEMENTREMOVE AD

अमेरिका: कोर्ट ने किराया नहीं देने पर ट्विटर को दिया बिल्डिंग खाली करने का आदेश

Twitter अपने सैन फ्रांसिस्को और लंदन कार्यालयों के लिए लाखों डॉलर के किराए का भुगतान नहीं कर सका है.

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female
ADVERTISEMENTREMOVE AD

अमेरिका (America) की एक कोर्ट ने एलन मस्क द्वारा संचालित ट्विटर को किराए नहीं देने पर ऑफिस बिल्डिंग छोड़ने का आदेश दिया है. डेनवर बिजनेस जर्नल की एक रिपोर्ट के मुताबिक ट्विटर के ऑफिस के मकान मालिक को फरवरी 2020 में 968,000 डॉलर का लेटर ऑफ क्रेडिट प्रदान किया गया था.

मार्च में पैसा खत्म हो गया और माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ने तब से किराए का भुगतान नहीं किया है, जो लगभग 27,000 डॉलर प्रति माह है.

रिपोर्ट में बताया गया है कि अदालत के दस्तावेजों के मुताबिक न्यायाधीश ने बोल्डर शेरिफ को ट्विटर के ऑफिस का कब्जा मकान मालिक को वापस करने का आदेश दिया है.

मई में, मकान मालिक ट्विटर के खिलाफ अदालत में गया, और न्यायाधीश ने एक आदेश जारी किया कि शेरिफ को अगले 49 दिनों के भीतर ट्विटर को हटाना होगा. बड़े पैमाने पर छंटनी से पहले, ट्विटर के बोल्डर ऑफिस में कम से कम 300 कर्मचारी काम करते थे.

सैन फ्रांसिस्को में अपने ऑफिस स्पेस के लिए 136,250 डॉलर किराए का भुगतान करने में विफल रहने के बाद जनवरी में ट्विटर पर मुकदमा दायर किया गया था.

मकान मालिक ने पिछले साल 16 दिसंबर को कंपनी को सूचित किया था कि अगर किराए का भुगतान नहीं किया गया तो वह पांच दिनों में हार्टफोर्ड बिल्डिंग की 30वीं मंजिल के लिए लीज पर डिफॉल्ट हो जाएगी.

फरवरी में, ट्विटर ने भारत में अपने तीन में से दो ऑफिस को बंद कर दिए और कर्मचारियों को घर से काम करने के लिए कहा गया.

कंपनी ने अपना सिंगापुर ऑफिस भी बंद कर दिया है. द प्लेटफॉर्मर की एक रिपोर्ट के मुताबिक, सिंगापुर ऑफिस, जो कि कंपनी का एशिया-प्रशांत मुख्यालय है, में काम करने वाले ट्विटर कर्मचारियों को किराए का भुगतान न करने पर दफ्तर से बाहर कर दिया गया.

ट्विटर अपने सैन फ्रांसिस्को और लंदन कार्यालयों के लिए लाखों डॉलर के किराए का भुगतान करने में विफल रहा. इसने अवैतनिक सेवाओं पर कई ठेकेदारों के मुकदमों का सामना किया और धन जुटाने के लिए संपत्तियों की नीलामी की.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

0
ADVERTISEMENTREMOVE AD
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×