ADVERTISEMENTREMOVE AD
मेंबर्स के लिए
lock close icon

China: जिनपिंग के तीसरे कार्यकाल पर लगेगी मुहर? ‘Two Sessions’ बैठक पर सबकी नजर

China’s ‘Two Sessions’ Explained: चीन में शनिवार से शुरू हो रही संसदीय बैठक, इसके "टू सेशंस" क्यों कहा जाता है?

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

चीन की वार्षिक विधायी बैठकों (China’s ‘Two Sessions’ Explained) के लिए हजारों प्रतिनिधि बीजिंग पहुंच रहे हैं. शनिवार, 4 मार्च से शुरू हो रही इस संसदीय बैठक को "दो सत्र/ टू सेशंस" के रूप में जाना जाता है. पिछले सालों के ट्रेंड को देखें तो, इस बैठक में महत्वपूर्ण नीतियों की घोषणा की गई है.

2018 में, ऐसी ही बैठक में संसद ने राष्ट्रपति पद के लिए चीनी नेताओं पर लगे पारंपरिक दो-कार्यकाल की सीमा को हटा दिया था, जिससे शी जिनपिंग (Xi Jinping) को जीवन भर शासन करने का मौका मिला. इसके दो साल बाद "टू सेशंस" बैठक में में हांगकांग के लिए व्यापक राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को मंजूरी दी गयी जिसके बाद उसपर पकड़ और मजबूत हुई.

2023 के भी "टू सेशंस" बैठक में ऐसे ही कुछ अहम फैसले लिए जाने की संभावना है. इस एक्सप्लेनर में हम आपको इन सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगे.

  • "दो सत्र" या "टू सेशंस" क्या है?

  • यहां क्या होगा?

  • इस साल एजेंडे में क्या है या किन फैसलों की उम्मीद की जा रही है?

  • यह साल अलग क्यों है?

China: जिनपिंग के तीसरे कार्यकाल पर लगेगी मुहर? ‘Two Sessions’ बैठक पर सबकी नजर

  1. 1. China’s two sessions: "दो सत्र" या "टू सेशंस" क्या है?

    इस वार्षिक संसदीय बैठक को "दो सत्र" इसलिए कहा जाता है क्योंकि यहां नेशनल पीपुल्स कांग्रेस (NPC) और चीनी पीपुल्स पॉलिटिकल कंसल्टेटिव कॉन्फ्रेंस (CPPCC), दोनों अपनी वार्षिक बैठक अलग-अलग, लेकिन एक ही समय में आयोजित करते हैं.

    चीन में CPPCC एक सलाहकार निकाय है जबकि 3,000 सदस्यों वाली NPC चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की विधायी संस्था (जो कानून बनाए) है. हालांकि NPC को केवल 'रबड़ स्टैम्प वाली संसद' ही माना जाता है. इसके सदस्यों में बड़े बिजनेसमैन और मशहूर हस्तियां शामिल हैं.

    NPC के सदस्यों को चीन की प्रशासनिक इकाइयों, स्वायत्त क्षेत्रों और आर्म्ड फोर्सेज द्वारा चुना जाता है. वे पांच साल के लिए इस पद पर बैठते हैं.

    Expand
  2. 2. China’s two sessions: यहां क्या होगा?

    लगभग दो सप्ताह चलने वाले इस बैठक में शामिल होने के लिए हजारों प्रतिनिधि बीजिंग आएंगे और यहां नए कानून पर मुहर लगाएंगे, सरकार के तमाम पदों पर अगर कोई परिवर्तन होना हो तो उसे पारित करेंगे. इसके अलावा सरकारी बजट भी पास किया जायेगा.

    कोरोना काल के बाद यह पहला ऐसा "दो सत्र" बैठक होगा जो कोरोना से नहीं होगा. 2020 में यह बैठक कई महीनों के विलंब में बाद आयोजित हुआ, जबकि 2021 और 2022 की बैठकें दो के बजाय केवल एक सप्ताह चलीं.

    शनिवार को शी जिनपिंग के भाषण के साथ पहली बैठक की शुरुआत होने की उम्मीद है. इस भाषण में इस बात की झलक मिलेगी की इस वर्ष के लिए चीनी सरकार की नीतिगत दिशा क्या रहेगी.
    Expand
  3. 3. China’s two sessions: बैठक में क्या फैसला लिया जा सकता है?

    • 14वें एनपीसी के दौरान चीनी राष्ट्रपति के रूप में शी जिनपिंग के तीसरे कार्यकाल पर मुहर लगने की उम्मीद है. इससे पहले अक्टूबर 2022 में ही पार्टी कांग्रेस ने शी जिनपिंग को अन्य दो सबसे महत्वपूर्ण पद- चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव और सेना के अध्यक्ष के रूप में फिर से नियुक्त किया था.

    • पार्टी में दूसरे सबसे शक्तिशाली व्यक्ति और शी जिनपिंग के उत्तराधिकारी माने जाने वाले ली कियांग को चीन के नए प्रधानमंत्री बनाया जा सकता है.

    • बैठक के उद्घाटन सत्र/ ओपनिंग सेशन में, सभी प्रतिनिधियों को "सरकारी कार्य रिपोर्ट" प्रस्तुत की जाएगी. यह आने वाले वर्ष के लिए चीन के आर्थिक और नीतिगत लक्ष्य निर्धारित करेगी और इसमें चीन की जीडीपी का पूर्वानुमान शामिल होगा.

    (हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

    Expand

China’s two sessions: "दो सत्र" या "टू सेशंस" क्या है?

इस वार्षिक संसदीय बैठक को "दो सत्र" इसलिए कहा जाता है क्योंकि यहां नेशनल पीपुल्स कांग्रेस (NPC) और चीनी पीपुल्स पॉलिटिकल कंसल्टेटिव कॉन्फ्रेंस (CPPCC), दोनों अपनी वार्षिक बैठक अलग-अलग, लेकिन एक ही समय में आयोजित करते हैं.

चीन में CPPCC एक सलाहकार निकाय है जबकि 3,000 सदस्यों वाली NPC चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की विधायी संस्था (जो कानून बनाए) है. हालांकि NPC को केवल 'रबड़ स्टैम्प वाली संसद' ही माना जाता है. इसके सदस्यों में बड़े बिजनेसमैन और मशहूर हस्तियां शामिल हैं.

NPC के सदस्यों को चीन की प्रशासनिक इकाइयों, स्वायत्त क्षेत्रों और आर्म्ड फोर्सेज द्वारा चुना जाता है. वे पांच साल के लिए इस पद पर बैठते हैं.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

China’s two sessions: यहां क्या होगा?

लगभग दो सप्ताह चलने वाले इस बैठक में शामिल होने के लिए हजारों प्रतिनिधि बीजिंग आएंगे और यहां नए कानून पर मुहर लगाएंगे, सरकार के तमाम पदों पर अगर कोई परिवर्तन होना हो तो उसे पारित करेंगे. इसके अलावा सरकारी बजट भी पास किया जायेगा.

कोरोना काल के बाद यह पहला ऐसा "दो सत्र" बैठक होगा जो कोरोना से नहीं होगा. 2020 में यह बैठक कई महीनों के विलंब में बाद आयोजित हुआ, जबकि 2021 और 2022 की बैठकें दो के बजाय केवल एक सप्ताह चलीं.

शनिवार को शी जिनपिंग के भाषण के साथ पहली बैठक की शुरुआत होने की उम्मीद है. इस भाषण में इस बात की झलक मिलेगी की इस वर्ष के लिए चीनी सरकार की नीतिगत दिशा क्या रहेगी.
0

China’s two sessions: बैठक में क्या फैसला लिया जा सकता है?

  • 14वें एनपीसी के दौरान चीनी राष्ट्रपति के रूप में शी जिनपिंग के तीसरे कार्यकाल पर मुहर लगने की उम्मीद है. इससे पहले अक्टूबर 2022 में ही पार्टी कांग्रेस ने शी जिनपिंग को अन्य दो सबसे महत्वपूर्ण पद- चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव और सेना के अध्यक्ष के रूप में फिर से नियुक्त किया था.

  • पार्टी में दूसरे सबसे शक्तिशाली व्यक्ति और शी जिनपिंग के उत्तराधिकारी माने जाने वाले ली कियांग को चीन के नए प्रधानमंत्री बनाया जा सकता है.

  • बैठक के उद्घाटन सत्र/ ओपनिंग सेशन में, सभी प्रतिनिधियों को "सरकारी कार्य रिपोर्ट" प्रस्तुत की जाएगी. यह आने वाले वर्ष के लिए चीन के आर्थिक और नीतिगत लक्ष्य निर्धारित करेगी और इसमें चीन की जीडीपी का पूर्वानुमान शामिल होगा.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×