ADVERTISEMENTREMOVE AD

दुनिया की सबसे ऊंची इमारतें बनाने जा रहा सऊदी, ये हैं पांच सबसे ऊंची इमारतें

Burj Khalifa फिलहाल दुनया की सबसे ऊंची बिल्डिंग है.

Updated
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

बुर्ज खलीफा के बाद सऊदी अरब अब एक दुनिया की सबसे बड़ी इमारत बनाने की योजना बना रहा है. ब्लूमबर्ग के मुताबिक इस प्रोजेक्ट की लागत 500 बिलियन डॉलर बताई जा रही है, जिसे नियोम नाम दिया गया. इस प्रोजेक्ट के पीछ सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान का आईडिया है, जिसका मकसद 500 मीटर लंबा जुड़वां गगनचुंबी इमारतों का निर्माण करना है. जो कई मील दूर से दिखे. आपको बता दें, अभी बुर्ज खलीफा दुनिया सबसे ऊंची इमारत है. इसके साथ ही जानते हैं दुनिया की टॉप पांच ऊंची इमारत कौन सी हैं ?

ADVERTISEMENTREMOVE AD

रिटेल और ऑफिस की सुविधा

रिपोर्ट के मुताबिक, इस इमारत में रहने की जगह होगी, रीटेल और ऑफिस के लिए जगह होगी. यह इमारत लाल सागर के तट पर रेगिस्तान में बनाई जाएगी. डिजाइनर्स को इस आधे मील की लंबी प्रोटोटाइप बनाने के बारे में निर्देश दे दिए गए हैं. NEOM के पूर्व और मौजूदा कर्मचारियों ने बताया है कि यदि वह पूरी तरह से आगे बढ़ता है तो यह दुनिया की सबसे बड़ी इमारतों में से एक होगी.

0

आपको बता दें, NEOM की घोषणा 2017 में की गई थी. प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान की योजना देश के एक दूर-दराज एरिया को एक हाई-टेक सेमी ऑटोनोमस राज्य में बदलने की है, जो टॉप क्लास शहरी जीवन की कल्पना करता है. यह विदेशी निवेश को आकर्षित करने की योजना में से एक है, जिससे सऊदी अर्थव्यवस्था को तेल की बिक्री पर निर्भरता से दूर करने में मदद मिलेगी. इसके निर्माण के लिए 200 बिलियन डॉलर तक की लागत आ सकती है.

ये हैं दुनिया की पांस सबसे ऊंची इमारत 

बुर्ज खलीफा

Burj Khalifa फिलहाल दुनया की सबसे ऊंची बिल्डिंग है.

बुर्ज खलीफा दुनिया की सबसे ऊंची इमारत

Image-Burj Khalifa

जब बात दुनिया की सबसे उंची इमारतों की होती है, तो सबसे पहले दुबई की बुर्ज खलीफा का नाम सबसे पहले आता है. जिसकी उंचाई 830 मीटर है. और इसमें 163 मंजिल है. बुर्ज खलीफा को 4 जनवरी 2010 को खोला गया था. इस गगनचुंबी इमारत को देखने के लिए सिर्फ दुबई से ही नहीं बल्कि विदेशों से भी लोग आते हैं. इसे बनाने में $1.5 बिलियन का खर्च आया था.

ADVERTISEMENT

शंघाई टावर (शंघाई)

बुर्ज खलीफा के बाद दुनिया में सबसे ऊंची इमारत की बात करें,तो दूसरे नंबर पर शंघाई का शंघाई टावर का नाम आता है. शंघाई टावर 632 मीटर ऊंची है. इस इमारत में कुल 128 मंजिल है. यह इमारत साल 2015 मई बनकर तैयार हुई थी. यह इमारत दुनिया की सबसे स्थायी रूप से ऊंची इमारतों मई से एक है. इसे बनाने की लागत 2.2 बिलियन डॉलर है.

Burj Khalifa फिलहाल दुनया की सबसे ऊंची बिल्डिंग है.

शंघाई टावर दुनिया की दूसरी सबसे ऊंची इमारत

Image-Social Media

ADVERTISEMENTREMOVE AD

मक्का रॉयल क्लॉक टॉवर

मक्का रॉयल क्लॉक टावर दुनिया की तीसरी सबसे ऊंची इमारत है, जो मक्का शहर में स्थित है. मक्का रॉयल टावर की ऊंचाई 601 मीटर है और इसमें 120 मंजिल है. यह इमारत लगभग एक दशक के निर्माण कार्य के बाद 2012 में बनकर तैयार हुई थी

Burj Khalifa फिलहाल दुनया की सबसे ऊंची बिल्डिंग है.

मक्का रॉयल क्लॉक टॉवर दुनिया  की तीसरी सबसे ऊंची इमारत

Image-Wikipedia

पिंग एन फाइनेंस सेंटर

चीन के शेन्नजेन शहर में स्थित पिंग एन फाइनेंस सेंटर इमारत दुनिया की चौथी सबसे ऊंची इमारत है. इस इमारत की ऊँचाई 599 मीटर है. इस इमारत में 115 मंजिल है. यह इमारत 2017 में बनकर तैयार हुई थी. और यह चीन की दूसरी सबसे ऊंची इमारत है.

Burj Khalifa फिलहाल दुनया की सबसे ऊंची बिल्डिंग है.

पिंग एन फाइनेंस सेंटर दुनिया की चौथी सबसे ुऊंची इमारत

Image- Wikipedia 

ADVERTISEMENT

लोटे वर्ल्ड टावर

Burj Khalifa फिलहाल दुनया की सबसे ऊंची बिल्डिंग है.

लोटे वर्ल्ड टावर दुनिया की पांचवी सबसे ऊंची इमारत

Image- Wikipedia

लोटे वर्ल्ड टावर इमारत दुनिया की पांचवी सबसे ऊंची इमारत है, जो साउथ कोरिया के सियोल में स्थित है. इस इमारत की कुल लम्बाई 554 मीटर है और इसमें 123 मंजिल है. यह इमारत साल 2016 में बनकर तैयार हुई है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENTREMOVE AD
Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×