ADVERTISEMENTREMOVE AD

US: वाशिंगटन में खालिस्तान-अमृतपाल के समर्थन में हुई रैली में पत्रकार पर हमला

Amritpal Singh के समर्थकों की पत्रकार से बहस का वीडियो भी सामने आया है

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

अमेरिका में एक भारतीय पत्रकार पर खालिस्तान (Khalistan) और अमृतपाल सिंह (Amritpal Singh) के समर्थन में आयोजित प्रदर्शन के दौरान हमले की खबर सामने आ रही है. PTI के पत्रकार ललित कुमार झा ने बताया कि उनके ऊपर वाशिंगटन डीसी में भारतीय दूतावास के बाहर अमृतपाल सिंह के समर्थन में हो रही रैली के दौरान हमला हुआ. भारतीय दूतावास ने पत्रकार के साथ हुई ज्यादती की निंदा भी की है.

घटना से संबंधित एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें कुछ लोग ललित कुमार झा से बहस करते हुए दिख रहे हैं. यह लोग अपने हाथों में खालिस्तान का झंडा भी लिए हुए थे.

पीड़ित पत्रकार ने बताया कि हमले से बचने के लिए फौरी तौर पर उन्हें सीक्रेट सर्विस की मदद लेनी पड़ी, जिसके अधिकारी प्रदर्शन में तैनात थे. बाद में पत्रकार ने पुलिस से भी मदद ली.

ADVERTISEMENTREMOVE AD
उन्होने ट्विटर पर लिखा, "शुक्रिया @SecretService, आज मेरी सुरक्षा करने और मुझे अपना काम करने में मदद करने के लिए. नहीं तो मैं यह संदेश हॉस्पिटल से लिख रहा होता. नीचे दिख रहे इस व्यक्ति ने दो बार लाठी से मेरे बाएं कान के पास मारा. मुझे खुद पर हमले का अंदेशा होने के चलते 911 सेवा पर मदद मांगनी पड़ी और वहां दो वैन पहुंची."

भारतीय दूतावास ने की निंदा

इस बीच भारतीय दूतावास ने हमले की निंदा की है. भारतीय दूतावास ने प्रेस रिलीज जारी करते हुए कहा, "हमने वाशिंगटन डीसी में तथाकथित खालिस्तान प्रदर्शन के दौरान एक वरिष्ठ भारतीय पत्रकार के साथ दुर्व्यवहार, उन्हें धमकाते और उनके साथ जोर-जबरदस्ती करते हुए लोगों का परेशान करने वाला वीडियो देखा. पहले पत्रकार से गाली-गलौज की गई, फिर उनके ऊपर शारीरिक हमला किया गया, अपनी सुरक्षा के डर से उन्हें कानूनी एजेंसियों की मदद लेनी पड़ी, जिन्होंने तुरंत प्रतिक्रिया दी."

भारतीय दूतावास ने कहा, "हम एक वरिष्ठ पत्रकार पर इस तरह के गंभीर और अनुचित हमले की आलोचना करते हैं. इस तरह की गतिविधियों से तथाकथित "खालिस्तानी प्रदर्शनकारियों" और उनके समर्थकों की असामाजिक और हिंसक गतिविधियों का पता चलता है, जो नियमित इस तरह की हिंसा में शामिल होते हैं."

बता दें इससे पहले सान फ्रांसिस्को में भारतीय कांसुलेट में तोड़फोड़ की गई थी. यह तोड़फोड़ पंजाब पुलिस द्वारा अमृतपाल सिंह पर हुई कार्रवाई के बाद हुई थी.

पढ़ें ये भी: पंजाब पुलिस ने नहीं जारी की महिला के हुलिए में दिख रहे अमृतपाल की तस्वीर

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

0
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×