ADVERTISEMENTREMOVE AD

विश्व कप फाइनल: 40 ओवर में बस 4 चौके, हेड-लाबुशेन की जोड़ी... भारत की हार के 5 कारण

IND vs AUS World Cup Final | ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 6 विकेट से हराकर छठी बार विश्व कप का खिताब अपने नाम किया.

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

विश्व कप 2023 (World Cup 2023) के फाइनल से पहले तक अपराजित रही टीम इंडिया को अंतिम मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा. भारत के 241 रनों के लक्ष्य को ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 6 विकेट रहते आसानी से हासिल कर लिया. ऑस्ट्रेलिया इस जीत के साथ छठी बार विश्व विजेता बना, जबकि भारत का 12 साल बाद अपनी धरती पर कप जीतने का सपना चकनाचूर हो गया. भारत की हार और ऑस्ट्रेलिया की जीत में कौन से 5 कारण रहे आइए देखते हैं...

IND vs AUS World Cup Final | ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 6 विकेट से हराकर छठी बार विश्व कप का खिताब अपने नाम किया.

चैंपियन ऑस्ट्रेलिया

(फोटो: PTI)

ADVERTISEMENTREMOVE AD

बल्लेबाजी लड़खड़ाई

भारत की बल्लेबाजी इस विश्व कप में पहली बार लड़खड़ाई और स्कोर 240 रन तक ही पहुंच पाया. इस विश्व कप में पहली बार हुआ कि भारतीय टीम ऑलआउट हो गई. रोहित शर्मा ने 47, विराट कोहली ने 54 और केएल राहुल ने 66 रन बनाए, लेकिन इसके बाद किसी बल्लेबाज ने 20 रन का आंकड़ा भी पार नहीं किया. पूरी पारी में टीम इंडिया विकेट गिरते रहने से दबाव में ही नजर आई. शुभमन गिल और श्रेयस अय्यर ने 4-4 रन बनाए तो रविंद्र जडेजा 9 और सूर्यकुमार यादव 18 रन ही बना पाए.

पैट कमिंस की कप्तानी और फील्डिंग

ऑस्ट्रेलाई टीम बड़े मैचों में अपने शानदार खेल के लिए जानी जाती है. कंगारुओं ने इस मैच में शानदार फील्डिंग की. मैक्सवेल ने करीब 11 मीटर तक पीछे की तरफ भागकर रोहित शर्मा का कैच पकड़ा जिसके बाद भारत पर दबाव पड़ना शुरू हो गया. पैट कमिंस ने शानदार कप्तानी करते हुए फील्डिंग का ऐसा जाल बिछाया कि बल्लेबाज जो भी शॉर्ट मार रहे थे वो फील्डर के हाथ में जा रहा था.

11वें से 50वें ओवर के बीच यानी 40 ओवर में भारतीय बल्लेबाज केवल 4 चौके ही लगा पाए. 11वें ओवर के बाद तो 98 गेदों तक कोई चौका लगा ही नहीं.

ट्रेविस हेड और लाबुशेन की साझेदारी

ऑस्ट्रेलिया के 47 रन के स्कोर पर 3 विकेट गिर चुके थे. इस मैच में भारत की पकड़ मजबूत हो रही थी. लेकिन इसके बाद ट्रेविस हेड और मार्नस लाबुशेन ने अपने पैर ऐसे जमाए कि मैच भारत से बहुत दूर चला गया. हेड ने 95 गेंदों में शतक जड़ दिया. उन्होंने 120 गेंदों में 137 रनों की पारी खेली. दोनों बल्लेबाजों ने चौथे विकेट के लिए 192 रनों की साझेदारी की.

टीम इंडिया ने जब तक ट्रेविस हेड का विकेट चटकाया, तब तक काफी देर हो चुकी थी, ऑस्ट्रेलिया बस एक हिट दूर था. मैक्सवेल आए और जीत का रन अपने बल्ले से बनाकर टीम को विजेता बना दिया.

IND vs AUS World Cup Final | ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 6 विकेट से हराकर छठी बार विश्व कप का खिताब अपने नाम किया.

ट्रेविस हेड और मार्नस लाबुशेन ने चौथे विकेट के लिए 192 रनों की साझेदारी की.

(फोटो: PTI)

शुरुआती सफलताओं के बाद हाथ खाली

ऑस्ट्रेलिया 241 रनों के लक्ष्य का पीछा करने आई तो शमी और बुमराह के शुरुआती झटकों से मैदान गूंज उठा. दूसरे ही ओवर में मोहम्मद शमी ने डेविड वॉर्नर को वापस भेज दिया इसके बाद पांचवे ओवर में मिचल मार्श और सातवें ओवर में स्टीव स्मिथ को जसप्रीत बुमराह ने चलता कर दिया.

47 रन पर ऑस्ट्रेलिया के 3 विकेट गिर चुके थे, लेकिन गेंदबाज इस दबाव को कायम रख पाने में नाकाम रहे. ट्रेविस हेड और मार्नस लाबुशेन की साझेदारी ने भारत के हाथ से मैच छीन लिया. भारतीय गेंदबाद विकेट को तरसते रहे. शमी और बुमराह के अलावा सिराज को एक विकेट मिला.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

टॉस, स्लो पिच और ड्यू

ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर भारत को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया था. इसी के साथ भारत पहली लड़ाई टॉस पर ही हार गया. दूसरी पारी में गेंदबाजी मुश्किल होने वाली थी, इसलिए ऑस्ट्रेलिया ने पहले ही गेंदबाजी चुन ली. भारत की गेंदबाजी आते-आते मैदान पर ड्यू का असर शुरू हो गया और स्पिनर्स प्रभावी नहीं रहे. पिच भी स्लो थी. इस पिच पर ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने और धीमी गेंद कराई जिसके चलते भारत को बड़े शॉट मारने के लिए पेस ही नहीं मिला.

विश्व कप 2023 में 10 मैच जीतने वाली भारतीय टीम का सपना एक हार ने चकनाचूर कर दिया. इसी के साथ इस विश्व कप 2023 की यात्रा समाप्त हो गई.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×