हार में भी दिखा रविंद्र जडेजा का जलवा, देखिए मैच Highlights

हार में भी दिखा रविंद्र जडेजा का जलवा, देखिए मैच Highlights

क्रिकेट

न्यूजीलैंड ने ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर खेले गए सेमीफाइनल मैच में भारत को 18 रनों से हराकर आईसीसी वर्ल्ड कप-2019 के फाइनल में जगह बना ली है. मंगलवार 9 जुलाई को बारिश के कारण मैच पूरा नहीं हो सका था, इसलिए बुधवार को इसे पूरा किया गया.

भारत की वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में ये लगातार दूसरी हार है. इससे पहले 2015 के वर्ल्ड कप में भी भारत सेमीफाइनल ऑस्ट्रेलिया से हार कर बाहर हो गया था. वहीं न्यूजीलैंड का वर्ल्डकप में लगातार दूसरा फाइनल होगा. कीवी टीम 2015 वर्ल्ड कप में पहली बार फाइनल में पहुंची थी.

Loading...

बुधवार को जब न्यूजीलैंड की टीम 211/5 के स्कोर से आगे बल्लेबाजी के लिए आई, तो बचे हुए 3.5 ओवरों मे सिर्फ 28 रन और जोड़ सकी और 239 का स्कोर खड़ा किया. भारत ने इन 3.5 ओवरों में न्यूजीलैंड के 3 विकेट भी झटके.

कीवी टीम ने भारत के सामने 240 रनों का लक्ष्य रखा था, जिसे भारतीय टीम संघर्ष के बाद भी हासिल नहीं कर पाई और 49.3 ओवरों में सभी विकेट खोकर 221 रन ही बना सकी.

जडेजा-धोनी का संघर्ष भी काम न आया

240 रनों का पीछा करना ओल्ड ट्रैफर्ड की पिच पर आसान नहीं था क्योंकि बारिश और मौसम ने यहां की स्थितियां तेज गेंदबाजों के अच्छी बना दी थीं. भारत ने 92 रनों पर ही अपने छह विकेट खो दिए थे. यहां से रविंद्र जडेजा (77) और महेंद्र सिंह धोनी (50) ने सातवें विकेट के लिए 116 रनों की साझेदारी कर भारत को जीत के करीब पहुंचाया. यह वर्ल्ड कप में सातवें विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी है.

ऐसा लग रहा था कि जडेजा और धोनी की जोड़ी भारत को फाइनल में पहुंचा देगी तभी ट्रेंट बोल्ट ने मैच का रुख बदल दिया. उन्होंने 208 के कुल स्कोर पर जडेजा को कप्तान केन विलियम्सन के हाथों कैच कराया. जडेजा ने 59 गेंदों का सामना कर चार चौके और चार छक्के मारे.

धोनी क्रीज पर भारत की आखिरी उम्मीद थे. आखिरी दो ओवरों में भारत को 31 रनों की दरकार थी. धोनी ने पहली गेंद पर छक्का मारा और दूसरी गेंद पर दो रन लेने चाहे. लेकिन दूसरा रन लेने के चक्कर में धोनी, मार्टिन गुप्टिल की डायरेक्ट हिट से पहले बल्ला क्रीज पर नहीं रख सके और यहीं भारत की उम्मीदें खत्म हो गई. धोनी ने 72 गेंदों का सामना कर एक छक्का और एक चौका लगाया.

लॉकी फर्ग्यूसन ने भुवनेश्वर कुमार (0) और जिम्मी नीशम ने युजवेंद्र चहल (5) को आउट कर भारत को सेमीफाइनल में हार सौंपी.

ये भी पढ़ें : इंग्लैंड से हार के बाद प्लान बदलना पड़ा टीम इंडिया को महंगा

भारत की खराब शुरुआत

इससे पहले, भारत की शुरुआत बेहद खराब रही और उसका मिडिल ऑर्डर एक बार फिर जिम्मेदारी भरी पारियों से अछूता रहा. भारत ने पांच रनों के कुल स्कोर पर अपने टॉप ऑर्डर को खो दिया था.

रोहित शर्मा (1) और लोकेश राहुल (1) को मैट हेनरी ने अपना शिकार बनाया और कप्तान विराट कोहाली (1) का विकेट बोल्ट ने लिया.

युवा ऋषभ पंत और अनुभवी दिनेश कार्तिक के पास टीम को संभालने और अपनी अहमियत दिखाने का मौका था, लेकिन दोनों विफल रहे. पहले कार्तिक 24 के कुल स्कोर पर हेनरी का शिकार बने. उन्होंने छह रनों का योगदान दिया.

पंत की अपरिपक्वता एक बार फिर दिखी. पंत ने हार्दिक पांड्या के साथ 47 रनों की साझेदारी कर ली थी. मिचेल सैंटनर ने उनके लिए जाल बिछाया और पंत उसमें फंस कर तब बड़ा शॉट खेल गए जब जरूरत नहीं थी. मिडविकेट पर गए उनके शॉट को कोलिन डी ग्रांडहोम ने पकड़ने में कोई गलती नहीं की. 56 गेंदों पर चार चौकों की मदद से 32 रन बनाने वाले पंत का विकेट 71 के कुल स्कोर पर गिरा.

पंत ने जो गलती की उसे पांड्या ने सैंटनर की गेंद पर ही दोहराया और कीवी कप्तान ने पांड्या का कैच पकड़ भारत की हार की संभावनाओं को मजबूत कर दिया. पांड्या के बल्ले से 62 गेंदों दो चौकों की मदद से 32 रन निकले.

पांड्या के जाने के बाद आए जडेजा ने धीमी नहीं बल्कि आक्रमक बल्लेबाजी की और धोनी ने उन्हें स्ट्राइक दे भारत को लक्ष्य के करीब पहुंचा दिया था, लेकिन जडेजा बोल्ट की गेंद को मिस टाइम कर गए और आउट हो गए, जबकि धोनी को गुप्टिल ने रोक दिया.

ये भी पढ़ें : निराश फैंस को विराट का दिलासा- “आपका प्यार मिला, हमने कोशिश की”

खराब शुरुआत से उबरा न्यूजीलैंड

मंगलवार को न्यूजीलैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी थी. तीसरे ओवर की पांचवीं गेंद पर किसी तरह कीवी टीम का खाता खुला, लेकिन अगले ओवर की तीसरी गेंद पर बुमराह ने गुप्टिल (1) को कोहली के हाथों कैच करा भारत को पहली सफलता दिलाई.

हेनरी निकोलस (28) और विलियम्सन आराम से बल्लेबाजी कर रहे थे. जडेजा ने निकोलस को आउट कर भारत को दूसरी सफलता दिला दी.इसके बाद विलियम्सन और टेलर ने पारी को आगे बढ़ाया और तीसरे विकेट के लिए 65 रनों की साझेदारी कर टीम को संभाला. कीवी कप्तान को चहल ने आउट किया.

41वें ओवर की आखिरी गेंद पर हार्दिक पांड्या ने जिम्मी नीशम को दिनेश कार्तिक के हाथों कैच करा कीवी टीम का चौथा विकेट गिरा दिया. नीशम ने 18 गेंदों पर 12 रन बनाए.

45वें ओवर की चौथी गेंद पर भुवनेश्वर ने कोलिन डी ग्रांडहोम (16) को भी पवेलियन भेज न्यूजीलैंड का स्कोर पांच विकेट के नुकसान पर 200 रन कर दिया. टेलर और लाथम के ऊपर टीम को अच्छे स्कोर तक पहुंचाने की जिम्मेदारी थी लेकिन बारिश ने ऐसा होने नहीं दिया. कल जब मैच रुका था तब टेलर 65 और लाथम तीन रन बनाकर खेल रहे थे.

भारत के लिए जसप्रीत, पांड्या, जडेजा, चहल ने एक-एक विकेट लिया.

(IANS इनपुट्स के साथ)

ये भी पढ़ें : जडेजा लड़े-धोनी अड़े, पर अनहोनी हो ही गई, इंडिया वर्ल्ड कप से बाहर

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our क्रिकेट section for more stories.

क्रिकेट
    Loading...