ऋषभ पंत ने की स्टंपिंग में गलती और एक नियम से बच गया बल्लेबाज
ऋषभ पंत ने लिटन दास को स्टंप तो कर दिया लेकिन अंपायर ने उसे नॉट आउट दे दिया और नो बॉल करार दे दिया
ऋषभ पंत ने लिटन दास को स्टंप तो कर दिया लेकिन अंपायर ने उसे नॉट आउट दे दिया और नो बॉल करार दे दिया(फोटोः AP)

ऋषभ पंत ने की स्टंपिंग में गलती और एक नियम से बच गया बल्लेबाज

भारत और बांग्लादेश के बीच राजकोट में हुए दूसरे टी20 मैच के दौरान एक ऐसा वाकया हुआ जिसे देखकर हर कोई हैरान था. पहले बल्लेबाजी कर रही बांग्लादेश की पारी के छठें ओवर की तीसरी गेंद पर बांग्लादेश के ओपनर लिटन दास को ऋषभ पंत ने स्टंप आउट कर दिया. इसके बावजूद अंपायर ने उन्हें नॉटआउट दे दिया. साथ ही इसे नो-बॉल करार दे दिया.

Loading...

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी बांग्लादेशी टीम ने बेहतरीन शुरुआत की. बांग्लादेशी ओपनर्स लिटन दास और मोहम्मद नईम ने टीम को सिर्फ 5 ओवरों में ही 41 रन तक पहुंचा दिया. ऐसे में कप्तान रोहित शर्मा ने स्पिनर युजवेंद्र चहल को गेंद थमाई.

ये फैसला सही साबित होता दिखा और चहल की तीसरी ही गेंद पर लिटन ने क्रीज के बाहर निकलकर बड़ा शॉट खेलने की कोशिश की, लेकिन वो गेंद को मिस कर गए और विकेटकीपर पंत ने आसानी से उन्हें स्टंप कर दिया.

जब पंत ने स्टंप किया उस वक्त लिटन क्रीज के आस-पास भी नहीं थे. इसके बावजूद मैदानी अंपायर ने थर्ड अंपायर को मामला रेफर किया. टीवी रिप्ले में भी साफ दिखा कि स्टंप किए जाने के वक्त लिटन क्रीज में लौटे भी नहीं थे. फिर भी अंपायर ने कई बार रिप्ले देखा और फिर लिटन दास को नॉट आउट करार दे दिया. साथ ही चहल की गेंद को नो-बॉल घोषित कर बांग्लादेश को फ्री-हिट दे दी.

दरअसल, जिस वक्त ऋषभ ने गेंद पकड़ी उस वक्त उनका ग्लव स्टंप्स से कुछ मिलीमीटर आगे निकल गया था. ये क्रिकेट के नियमों का उल्लंघन है जिसके तहत विकेटकीपर को कोई भी गेंद विकेट के पीछे ही पकड़नी होती है.

क्या कहता है नियम?

क्रिकेट के नियम बनाने वाली संस्था मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (MCC) के बनाए नियम 27.3.1 के मुताबिक,

किसी भी ओवर में जब गेंदबाज कोई गेंद डालता है, तो स्ट्राइकर के पीछे खड़े विकेटकीपर को उस पूरे वक्त तक स्टंप्स के पीछे ही रहना होगा, जब तक कि बल्लेबाज गेंद को अपने बल्ले से मारता है या उसके शरीर से गेंद लगती है या फिर गेंद बल्लेबाज को छकाते हुए विकेट के पीछे जाती है.

MCC के इसी नियम के अगले हिस्से में पिछले नियम का उल्लंघन करने की स्थिति के बारे में बताया गया है. नियम 27.3.2 के मुताबिक,

अगर विकेटकीपर इस नियम का उल्लंघन करता है तो, स्ट्राइकर की छोर पर खड़े अंपायर (लेग अंपायर) इसे नोबॉल घोषित करेंगे.

अनजाने में ही हुई ऋषभ पंत की ये गलती का फायदा लिटन दास ने उठाया और नो-बॉल पर मिली फ्री-हिट पर चौका जड़ दिया. लिटन ने अगली ही गेंद पर एक और चौका जड़ा और बांग्लादेश के 50 रन पूरे हुए. चहल के इस ओवर में 13 रन आए.

दिल्ली में हुए पहले मैच की ही तरह इस मैच में भी भारतीय फील्डिंग सवालों के घेरे में रही. छठें ओवर में पंत की गलती के बाद अगले ही ओवर में कप्तान रोहित शर्मा ने लिटन दास का कैच छोड़ दिया.

ऋषभ पंत ने जल्द ही गलती सुधारी और लिटन दास को रन आउट कर दिया
ऋषभ पंत ने जल्द ही गलती सुधारी और लिटन दास को रन आउट कर दिया
(फोटोः PTI)

हालांकि पंत ने जल्द ही अपनी गलती की भरपाई कर दी और आठवें ओवर में अपनी फुर्ती और समझदारी से लिटन दास को रन आउट कर भारत को बड़ी सफलता दिलाई. लिटन दास ने 21 गेंद पर 4 चौकों की मदद से 29 रन बनाए.

ये भी पढ़ें : रोहित के नाम एक और रिकॉर्ड, 100 T20I खेलने वाले पहले भारतीय पुरुष

(हैलो दोस्तों! WhatsApp पर हमारी न्यूज सर्विस जारी रहेगी. तब तक, आप हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our क्रिकेट section for more stories.

वीडियो

Loading...