ADVERTISEMENT

आनंद महिंद्रा की पहल पर भारत के सोशल मीडिया नेटवर्क की तैयारी पूरी

फेसबुक डेटा लीक पर जो विवाद हुआ था वो भूल जाइए, इसके सबसे बड़े फायदे को जानिए

Published
आनंद महिंद्रा की पहल पर भारत के सोशल मीडिया नेटवर्क की तैयारी पूरी
i

फेसबुक डेटा लीक पर जो विवाद हुआ था वो भूल जाइए, इसका सबसे बड़ा फायदा ये हुआ है कि भारत को नया देसी सोशल मीडिया नेटवर्क मिलने जा रहा है. महिंद्रा एंड महिंद्रा के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने 'पीपल' नाम से एक भारतीय सोशल मीडिया नेटवर्क की तैयारी पूरी कर ली है.

ADVERTISEMENT

फेसबुक डेटा लीक के बाद महिंद्रा ने की थी पहल

दरअसल, फेसबुक डेटा लीक की खबर आने के करीब एक हफ्ते बाद ही आनंद महिंद्रा ने ट्विटर पर लोगों से पूछा था कि क्या ये देसी सोशल मीडिया नेटवर्क लाने का सही समय नहीं है? उन्होंने कहा था कि ये वक्त ऐसा है जहां फेसबुक से ज्यादा प्रोफेशनल नेटवर्क की जरूरत है, महिंद्रा ने भारतीय स्टार्टअप से कुछ ऐसा बनाने की अपील भी की थी और खुद सहयोग की भी बात की थी.

जसप्रीत बिंद्रा ने महिंद्रा की चुनौती मंजूर की

जसप्रीत बिंद्रा ने महिंद्रा की चुनौती मंजूर की
(फोटो: ट्विटर)

आनंद महिंद्रा के इस पहल को महिंद्रा ग्रुप के डिजिटल सीनियर वाइस प्रेसिडेंट जसप्रीत बिंद्रा ने आगे बढ़ाया और ब्लॉकचेन एनेबल्ड सोशल मीडिया नेटवर्क बनाने का सुझाव दिया. पिछले करीब 2 महीनों से महिंद्रा और बिंद्रा मिलकर इस प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं.

ऐसे में जब पूरी दुनिया में डेटा सिक्योरिटी पर विवाद छिड़ा है, जसप्रीत बिंद्रा ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के जरिए इससे निपटने की तैयारी में दिख रहे हैं.

ADVERTISEMENT
ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी एक ऐसा प्लेटफॉर्म मुहैया कराता है, जिसमें दो पक्षों के बातचीत के बीच किसी तीसरे के दखल की गुंजाइश नहीं होती है. इस टेक्नोलॉजी में हर डेटा का रिकॉर्ड होता है और इसे सिर्फ उन लोगों के बीच ही शेयर किया जाता है जो इससे जुड़े हैं. हर बातचीत या ट्रांजेक्शन के बीच इसे वेरिफाई किया जाता है. ऐसे में डेटा लीक की गुंजाइश खत्म हो जाती है. 

आनंद महिंद्रा और जसपीत बिंद्रा की बातचीत के एक महीने के भीतर ही सोशल मीडिया पीपल की तैयारी पूरी हो चुकी है. पीपल की तरफ से एक ट्वीट में डेटा सिक्योरिटी का ही जिक्र करते कहा गया है कि यहां हमारा अपना डेटा होगा और हम तय करेंगे कि इसका क्या करना है.

जगह बना पाएगा पीपल?

देसी सोशल मीडिया नेटवर्क 'पीपल' मार्केट में आने को ऐसे वक्त तैयार है, जब पूरी दुनिया की निगाहे भारत के इंटरनेट यूजर्स पर हैं. 27 करोड़ फेसबुक यूजर्स वाले इस देश में हर साल नए-नए विदेशी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की एंट्री हो रही है. ऐसे में पीपल की सबसे बड़ी चुनौती होगी कि वो इसे किस तरह लोगों में मशहूर बना पाते हैं. फिलहाल, 'पीपल' का कहना है कि ये पूरी तरह इंडियन है, डेमोक्रेटिक है, इसे लोगों के द्वार और लोगों के लिए बनाया गया है.

ADVERTISEMENT

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, technology के लिए ब्राउज़ करें

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×