रमजान में सेहरी के लिए खाएं दिल्ली की ये मशहूर नहारी

रमजान में सेहरी के लिए खाएं दिल्ली की ये मशहूर नहारी

फीचर

होस्ट: आदित्य कौशल

कैमरा: अभय शर्मा, अभिषेक रंजन

वीडियो एडिटर: कुणाल मेहरा

‘आप जितने मजे से नाहरी खाते हैं और उतने ही मजे से उसे पकाते नहीं है तो वो नाहरी नहीं है.’ ये कहना है मेहताब भाई का जो ‘जावेद की फेमस नाहरी’ के मालिक हैं. दिल्ली के जाकिर नगर में है जावेद भाई की फेमस नाहरी’ की दुकान. 

रमजान के इस पाक महीने में रोजा खोलने के लिए नाहरी से अच्छा क्या हो सकता है और ये स्वाद तब और बढ़ जाता है जब ये परोसी जाती है खमीर की रोटी के साथ. आ गया न आपके मुह में भी पानी?

'जावेद की फेमस नाहरी'

जाकिर नगर की तंग गलियों में छोटी लेकिन बड़ी फेमस दुकान है 'जावेद की फेमस नाहरी' इस लजीज खाने का सीक्रेट जानने पहुंचे आदित्य कौशल उर्फ आरजे एडी.

Loading...
आरजे ऐडी का नाहरी पकाने का चैलेंज
आरजे ऐडी का नाहरी पकाने का चैलेंज
(फोटो: क्विंट हिंदी)

पिछले 25 सालों से यहां बेहतरीन और स्वादिष्ट नाहरी मिल रही है. फिलहाल इस जगह को मेहताब और उनके दो भाई वजीर और जावेद चला रहे हैं. ये दुकान शाम को 6 बजे इफ्तारी के लिए खुलती है जो सारी रात अपने कस्टमर के लिए खुली होती है, और सुबह सेहरी के वक्त बंद हो जाती है.

कई लोग रमजान में सुबह-सुबह सूरज उगने से पहले यहां खाना खाने आते हैं. हर रोज लगभग 50 किलो का मटन यहां पकाया जाता है, जो सिर्फ 2 से 3 घंटों में ही खत्म हो जाता है.

आरजे एडी ने लिया चैलेंज

50 किलो मटन पकाना आसन काम नहीं, लेकिन आरजे एडी ने ये चैंलेज लिया है.

मेहताब भाई की किचन में खाना पकाने के बर्तन किसी इंडस्ट्री में बनने वाली चीजों से कम नहीं है. उन्होंने हमसे अपनी रेसिपी सिर्फ इस शर्त साझा की, कि वो हम सिर्फ अपने तक रखें.

मैं आपको नाहरी बनाने का पूरा तरीका बताऊंगा, लेकिन अपनी सीक्रेट रेसिपी नहीं. 
मेहताब भाई, मालिक, जावेद की फेमस नाहरी
नाहरी को पकने में करीब 5 घंटे का समय लगता है 

इस्लामिक कैलेंडर के हिसाब से साल का 9वां महीना रमजान का होता है. पूरी दुनिया के मुस्लिम इस वक्त 28 से 30 तक रोजा रखते हैं,जो सूरज निकलने से पहले से लेकर सूरज डूबने के बाद तक चलता है. ये माना जाता है कि रमजान के महीने में ही कुरान पाक प्रकट हुई थी.

रमजान के पाक महीने में इस बार दिल्ली के पास है लाजवाब स्वाद वाली नाहरी.

ये भी पढ़ें-

रमजान में सेहरी के लिए वक्त पर जगाने वाले ‘सेहरखान’ की दास्तां

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our फीचर section for more stories.

फीचर
Loading...