हमसे जुड़ें
ADVERTISEMENTREMOVE AD

Himachal Pradesh: कुल 55 लाख वोटर- 37 थर्ड जेंडर, आज 68 सीटों पर वोटिंग

Himachal Pradesh Elections: चुनावी मैदान में 412 उम्मीदवारों में से 24 महिलाएं हैं.

Himachal Pradesh: कुल 55 लाख वोटर- 37 थर्ड जेंडर, आज 68 सीटों पर वोटिंग
i
Hindi Female
listen

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

गर्मजोशी से हफ्ते भर चले चुनावी प्रचार के बाद हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh Assembly Elections 2022) की सभी 68 विधानसभा क्षेत्रों में राज्य की अगली सरकार चुनने के लिए आज 12 नवंबर को एक ही चरण में मतदान होगा. चुनाव के नतीजे 08 दिसंबर को आएंगे. वोटिंग सुबह 8 बजे से शुरू हो जाएगी. ऐसे में समझते हैं कि आखिर प्रदेश में कितने वोटर हैं? थर्ड जेंडर वोटर्स की संख्या कितनी है और पहली बार कितने युवा वोट करने वाले हैं?

ADVERTISEMENTREMOVE AD

चुनावी मैदान में 412 उम्मीदवारों में से 24 महिलाएं हैं, जबकि 388 पुरुष. आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक राज्य की वोटर लिस्ट में कुल 55.93 लाख वोटर्स हैं और वे 7,881 मतदान केंद्रों पर मतदान करेंगे.

आइए आपको हिमाचल प्रदेश का पूरा चुनावी गणित समझाते हैं

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव

  • विधानसभा का कार्यकाल 9 जनवरी 2018 से 8 जनवरी 2023 तक है

  • विधानसभा में कुल 68 सीट, जिसमें 17 एससी- 3 एसटी सीट है

  • प्रदेश में जनरल वोटर 55,07,261 और 67532 सर्विस वोटर हैं

  • साल 2022 में पहली बार वोट करने वाले वोटरों की संख्या 42,173

  • साल 2022 में विकलांग वोटर- 56,001, थर्ड जेंडर वोटर- 37, बुजुर्ग वोटर- 1,22093

  • साल 2022 में 7,881 पोलिंग स्टेशन हैं. 2017 में 7,525 थे. यानी 4.73% का इजाफा

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव

बीजेपी और कांग्रेस राज्य की सभी 68 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ रही हैं, वहीं आप ने 67 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं. अन्य दलों में बहुजन समाजवादी पार्टी, 53 निर्वाचन क्षेत्रों में चुनाव लड़ रही है. वहीं अन्य पार्टियों में राष्ट्रीय देवभूमि पार्टी के 29, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के 11, हिमाचल जन क्रांति पार्टी के 6, और हिंदू समाज पार्टी और स्वाभिमान पार्टी के उम्मीदवार 3-3 सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं. 99 निर्दलीय उम्मीदवार हैं.

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव

EPIC से करवा सकते है पहचान वेरीफाई 

चुनाव आयोग द्वारा जारी की गई अधिसूचना में कहा गया है कि, "EPIC (फोटो मतदाता सूची और मतदाता फोटो पहचान पत्र) पहचान स्थापित करने वाले उन दस्तावेजों में से एक है जिनसे मतदान के समय मतदाता को वेरीफाई किया जा सकता है. शत-प्रतिशत वोटिंग सुनिश्चित करने के लिए नॉमिनेशन की अंतिम तिथि से पहले सभी नए पंजीकृत मतदाताओं को ईपीआईसी की सुपुर्दगी के हर संभव प्रयास किए गए हैं."

इन दस्तावेजों की मदद से डाल पाएंगे वोट  

  • मतदान केन्द्र पर मतदाताओं की पहचान के लिए मतदाता अपना EPIC या निम्नलिखित में से कोई भी पहचान जिन्हें इलेक्शन कमीशन ने अप्रूव किया है. उसकी मदद से वोट कर सकते हैं.

  • फोटो मतदाता पर्ची के साथ यह दस्तावेज मान्य होंगे

  • आधार कार्ड,

  • मनरेगा जॉब कार्ड,

  • बैंक/डाकघर द्वारा जारी फोटो वाली पासबुक,

  • मंत्रालय की योजना के तहत जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, श्रम कार्ड

  • ड्राइविंग लाइसेंस,

  • पैन कार्ड,

  • एनपीआर के तहत आरजीआई द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड,

  • भारतीय पासपोर्ट,

  • फोटो के साथ पेंशन दस्तावेज, एक्स कर्मचारियों को जारी किए गए फोटो युक्त सेवा पहचान पत्र

  • केंद्र/राज्य सरकार/पीएसयू/पब्लिक लिमिटेड कंपनियां, और सांसदों/विधायकों/एमएलसी को जारी किए गए आधिकारिक पहचान पत्र

  • विशिष्ट विकलांगता आईडी (यूडीआईडी) कार्ड

ADVERTISEMENTREMOVE AD

VVPAT से होगा हर वोट का सत्यापन 

चुनाव आयोग मतदाता सत्यापन के लिए हिमाचल की विधान सभा के आम चुनाव में प्रत्येक वोटिंग स्टेशन में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के साथ योग्य पेपर ऑडिट ट्रेल तैनात करेगा (वीवीपीएटी). यह प्रदेश में चुनाव की पारदर्शिता और विश्वसनीयता बढ़ाने के लिए होगा. VVPAT के रूप में यह प्रक्रिया मतदाता को अपना वोट सत्यापित करने की सेवा देती है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
और खबरें
×
×