ईरानी की डिग्री पर ट्विटर यूजर्स का ताना-‘झूठा व्यक्ति नेता कैसे?’
स्मृति ईरानी ने चुनाव आयोग को बताया, नहीं पूरी की पढ़ाई
स्मृति ईरानी ने चुनाव आयोग को बताया, नहीं पूरी की पढ़ाई(फोटो: क्विंट)

ईरानी की डिग्री पर ट्विटर यूजर्स का ताना-‘झूठा व्यक्ति नेता कैसे?’

केंद्रीय मंत्री और अमेठी लोकसभा सीट से बीजेपी की उम्मीदवार स्मृति ईरानी ने गुरुवार, 11 अप्रैल को चुनाव आयोग को अपनी पढ़ाई को लेकर जानकारी दी. ईरानी ने आयोग को बताया कि उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन पूरी नहीं की है.

शुक्रवार को, कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में केंद्रीय मंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि एक नया सीरियल आने वाला है- क्योंकि मंत्री भी कभी ग्रेजुएट थी.

इसकी ओपनिंग लाइन होगी, ‘क्वालिफिकेशंस के भी रूप बदलते हैं, नए-नए सांचे में ढलते हैं, एक डिग्री आती है, एक डिग्री जाती है, बनते एफेडेविट नए हैं.’
प्रियंका चतुर्वेदी, कांग्रेस प्रवक्ता

ईरानी ने दिया जवाब, कांग्रेस हर तरह से कर रही है अटैक

चौतरफा हो रहे इस हमले पर स्मृति ईरानी ने कहा कि ये कांग्रेस पिछले पांच सालों से ऐसे ही कर रही है.

पिछले पांच सालों में, उन्होंने मुझ पर हर तरह से हमला किया है. मेरे पास उनके लिए बस एक ही मैसेज है, आप जितना मुझ पर हमला करेंगे, मैं अमेठी में कांग्रेस के खिलाफ उतना काम करूंगी.
स्मृति ईरानी, केंद्रीय मंत्री

कांग्रेस को मिला ट्विटर यूजर्स का साथ, ट्रोल हुईं ईरानी

डिग्री को लेकर स्मृति ईरानी की बात पर ट्विटर यूजर्स ने अपनी नाराजगी जाहिर की. क्वालिफिकेशन से ज्यादा ट्विटर यूजर्स पढ़ाई को लेकर बोले गए झूठ पर गुस्साए नजर आए.

एक ही सवाल चारों ओर नजर आया- ‘झूठ बोलने वाला शख्स लोगों का प्रतिनिधि कैसे हो सकता है?’

पत्रकार स्वाति चतुर्वादी ने कहा, 'मेरी समस्या ये है कि उन्होंने शपथ लेते समय और कोर्ट के सामने झूठ बोला है. मुझे नहीं लगता है कि बार-बार झूठ बोलने वाला व्यक्ति जनता का प्रतिनिधि होना चाहिए.'

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता, संजय झा ने लिखा, 'स्मृति ईरानी ग्रेजुएट हों या न हों, लेकिन पढ़ाई को लेकर फैक्ट्स को बदलना गलत है.'

एक यूजर ने उनकी अधूरी बी.कॉम डिग्री को दिखाते हए सवाल पूछा. 'उन्होंने पहला पार्ट भी पूरा नहीं किया है. ये उसे अपनी क्वालीफिकेशन में कैसे लिख सकती हैं? ओह रुकिए, वो ऐसा कर सकती हैं क्योंकि वो इतनी एजुकेटेड नहीं हैं कि उन्हें पता चल पाए कि एजुकेशन सिस्टम कैसे काम करता है.'

पत्रकार रिफत जावेद ने इस ओर इशारा किया कि स्मृति ईरानी की नई शैक्षिक नीति का मसौदा तैयार करने पर काम किया.

ये भी पढ़ें : ‘चौकीदार’ शब्द पर हो-हल्ला, BJP के कैंपेन पर विपक्ष की चुटकी

और इसके बाद, केंद्रीय मंत्री का मजाक बनाते हुए मीम्स की बाढ़ आ गई.

पिछले साल जब राहुल गांधी ने ईरानी की डिग्री पर सवाल उठाए थे, तब भी केंद्रीय मंत्री ने उन्हें 'झूठा' बताया था, लेकिन अब तक स्मृति ईरानी या बीजेपी, किसी ने भी इसे लेकर कोई सफाई नहीं दी है.

ये भी पढ़ें : BJP के मेनिफेस्टो में बड़ी चूक, महिलाओं के खिलाफ लिख डाली ये बात

(My रिपोर्ट डिबेट में हिस्सा लिजिए और जीतिए 10,000 रुपये. इस बार का हमारा सवाल है -भारत और पाकिस्तान के रिश्ते कैसे सुधरेंगे: जादू की झप्पी या सर्जिकल स्ट्राइक? अपना लेख सबमिट करने के लिए यहां क्लिक करें)


Follow our सोशल दंगल section for more stories.

    वीडियो