ADVERTISEMENTREMOVE AD

द कश्मीर फाइल्सःकोटा में धारा 144 पर बवाल,प्रशासन ने कहा-फिल्म देखने पर रोक नहीं

फिल्म कोटा के नागरिक ना देख पायें, इस उद्देश्य से प्रशासन द्वारा धारा 144 लगाने का निर्णय दुर्भाग्यपूर्ण है- बीजेपी

story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

राजस्थान (Rajasthan) के कोटा (Kota) में मंगलवार सुबह 6 बजे से कलेक्टर ने धारा 144 लागू की जिस पर विवाद हो गया है. सोमवार को जारी इस आदेश में कहा गया है कि आने वाले दिनों में त्योहारों और वर्तमान में सिनेमाघरों में जारी फिल्म द कश्मीर फाइल्स (The Kashmir Files) को लेकर सुरक्षा के लिहाज से धारा 144 लगू लगाना जरूरी है.

इसके बाद फिल्म के निर्देशक विवेक अग्निहोत्री और बीजेपी नेताओं ने इसका जमकर विरोध किया.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

आदेश में कहा गया कि जिले में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए समय रहते भीड़ के इकठ्ठे होने के साथ ही जुलूस और सभाओं पर पाबंदी लगाने की जरूरत है. कोटा के कार्यवाहक कलेक्टर राजकुमार सिंह ने जिले में 22 मार्च सुबह 6 बजे से 21 अप्रैल रात 12 बजे तक धारा 144 को लागू कर दिया है.

इसी मामले को लेकर फिल्म के निर्देशक विवेक अग्निहोत्री ने सीएम अशोक गहलोत को ट्वीट करते हुए लिखा कि "आतंकियों की ताकत सिर्फ इतनी है कि वो डर पैदा करते हैं और हम डर जाते हैं. कश्मीर फाइल्स के प्रिय दर्शकों ये आपके लिए न्याय का समय है." इसी ट्वीट में विवेक अग्निहोत्री ने केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर को भी ट्वीट किया है कि "अगर लोकतंत्र में फिल्म के प्रदर्शन पर राज्य द्वारा हमला होता है तो हमें न्याय के बारे में सोचना पड़ेगा."

अपने लेटेस्ट ट्वीट में अग्निहोत्री ने लिखा, अगर थिएटर के चारों तरफ धारा 144 लागू है, तो लोग ग्रुप में कैसे जाएंगे? यह लोगों को डिसकरेज करने और फिल्म देखने में बाधा उत्पन्न करने की एक भयावह राजनीति है. मुझे उम्मीद है कि आप कानून और व्यवस्था के नियमों के इस दुरुपयोग के खिलाफ बोलेंगे.

0

बीजेपी का पलटवार- सरकार को आखिर डर किस बात का है?

राज्य की विपक्षी पार्टी बीजेपी ने भी कलेक्टर के इस आदेश को लेकर आपत्ति जताई है. उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने कहा है कि फिल्म की प्रशंसा देश के कोने-कोने में हो रही है और सिनेमाहॉल में फिल्म देखने के लिए लोगों में उत्साह साफ देखा जा सकता है. उसे कोटा के नागरिक ना देख पाये, इस उद्देश्य से प्रशासन द्वारा धारा 144 लगाने का निर्णय दुर्भाग्यपूर्ण है. सरकार को आखिर डर किस बात का है?

बीजेपी सांसद और भाजयुमो के राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या ने ट्वीट कर गहलोत सरकार पर निशाना साधते हुए बुधवार को कलेक्ट्रेट पर मार्च की चेतावनी दी है. उन्होंने ट्वीट किया कि आज युवा मोर्चा का प्रतिनिधि मंडल कलेक्टर से मुलाकात करके आदेश वापस लेने की मांग करेगा. आदेश वापस नहीं लेने पर युवा मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष के साथ बुधवार को कलेक्ट्रेट पर मार्च करेगा.

वहीं जिले में धारा 144 लगाने के बाद खड़े हुए इस बवाल को देखते हुए कोटा जिला प्रशासन बैकफुट पर आ गया है. धारा 144 लगाए जाने के संबंध में कोटा जिला प्रशासन ने अपनी सफाई में ट्वीट किया है.

जिला प्रशासन ने लिखा कि 21 मार्च को जारी धारा 144 को लेकर फिल्म को सिनेमा घरों मे या घरों में देखने पर किसी भी प्रकार की कोई मनाही नहीं है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×