FAQ: 16 जनवरी से लगेगी वैक्सीन, कैसे होगा आपका रजिस्ट्रेशन? 

आपके शहर और आप तक कैसे पहुंचेगी वैक्सीन. साइट पर किन बातों का रखें ख्याल?

Updated
फिट
3 min read

भारत दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीन मैन्यूफैक्चरर है और कोविड-19 के खिलाफ सबसे बड़ा इम्यूनाइजेशन प्रोग्राम शुरू कर रहा है. 16 जनवरी से वैक्सीनेशन ड्राइव शुरू करने की तैयारी है. फिलहाल देश में 2 वैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल के लिए मंजूरी मिली है.

फर्स्ट फेज में 3 करोड़ हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स की वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन हो चुका है. आगे रजिस्ट्रेशन के लिए कोविन ऐप का इस्तेमाल होगा.

वैक्सीन के आम लोगों तक पहुंचने की प्रक्रिया क्या होगी? कौन से डॉक्यूमेंट जरूरी होंगे? साइट पर कैसे पहुंचेगी वैक्सीन, आपको किन नियमों का पालन करना है? ऐसे आम लेकिन अहम सवालों के जवाब हम यहां दे रहे हैं.

आपके शहर तक वैक्सीन कैसे पहुंचा रही है सरकार?

भारत का वैक्सीन डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क करनाल, मुंबई, चेन्नई और कोलकाता में 4 सरकारी मेडिकल स्टोर डिपो (GMSD) के जरिये संचालित होता है. ये सरकारी डिपो वैक्सीन मैन्यूफैक्चरर से वैक्सीन खरीदता है.

मिंट की रिपोर्ट के मुताबिक 53 स्टेट वैक्सीन स्टोर GMSD से या सीधे मैन्यूफैक्चरर से वैक्सीन प्राप्त करते हैं. स्टेट वैक्सीन स्टोर फिर इन्सुलेटेड वैन के जरिये क्षेत्रीय, जिला और उप-जिला स्तर के कोल्ड चेन पॉइंट तक वैक्सीन का वितरण करते हैं.

ये चेन कुछ इस तरह चलती है-

  • वैक्सीन मैन्यूफैक्चरर से एयर ट्रांसपोर्ट के जरिये वैक्सीन प्राइमरी स्टोर तक लाई जाती है. वहां से रेफ्रिजरेटेड/इन्सुलेटेड वैन के जरिये रीजनल वैक्सीन स्टोर फिर डिस्ट्रिक्ट वैक्सीन स्टोर पहुंचाया जाता है.
  • डिस्ट्रिक्ट वैक्सीन स्टोर के बाद वैक्सीन कम्युनिटी हेल्थ सेंटर, प्राइमरी हेल्थ सेंटर, अर्बन हेल्थ सेंटर के कोल्ड चेन पॉइंट तक पहुंचता है.
  • वैक्सीन कैरियर के जरिये सब-सेंटर सेशन साइट और वहां से टारगेट ग्रुप तक वैक्सीन पहुंचाया जाता है.
FAQ: 16 जनवरी से लगेगी वैक्सीन, कैसे होगा आपका रजिस्ट्रेशन? 
बिजनेस स्टैंडर्ड की रिपोर्ट के मुताबिक देशभर में वैक्सीनेशन के लिए 29,000 कोल्ड चेन पॉइंट, 240 वॉक-इन कूलर, 70 वॉक-इन फ्रीजर, 45,000 आइस-लाइन्ड रेफ्रिजरेटर, 41,000 डीप फ्रीजर्स, और 300 सोलर रेफ्रीजरेटर की जरूरत होगी- ये स्वास्थ्य मंत्रालय का अनुमान है. 96000 वैक्सीनेटर को ट्रेनिंग दी गई है.

वैक्सीन लेने जा रहे लोगों के लिए जरूरी सवाल और उनके जवाब

रजिस्ट्रेशन के लिए कौन से डॉक्यूमेंट चाहिए?

रजिस्ट्रेशन के लिए नीचे बताए गए फोटो आईडी कार्ड में से कोई भी विकल्प मान्य होगा.

  • ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी, पैन कार्ड, पासपोर्ट, जॉब कार्ड, पेंशन डॉक्यूमेंट
  • श्रम मंत्रालय की स्कीम के तहत जारी हेल्थ इंश्योरेंस स्मार्ट कार्ड
  • मनरेगा कार्ड
  • एमपी, एमएलए, एमएलसी द्वारा जारी आधिकारिक पहचान पत्र
  • बैंक, पोस्टऑफिस का पासबुक
  • केंद्र, राज्य सरकार या पब्लिक लिमिटेड कंपनियों द्वारा दी गई सर्विस आईडी कार्ड

वैक्सीन के कितने डोज कितने समय के अंतराल पर लेने होंगे?

वैक्सीन शेड्यूल पूरा करने के लिए वैक्सीन की 2 डोज 28 दिनों के अंतराल पर लेनी होगी.

वैक्सीन डोज लेने के कितने दिनों बाद शरीर में एंटीबॉडी तैयार होगा?

COVID-19 वैक्सीन का दूसरा डोज लेने के 2 सप्ताह बाद आमतौर पर एंटीबॉडी का एक सुरक्षात्मक लेवल शरीर में तैयार हो जाता है.

क्या कोई शख्स बिना रजिस्ट्रेशन के COVID-19 वैक्सीन ले सकता है?

नहीं, COVID-19 वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन अनिवार्य है. रजिस्ट्रेशन होने के बाद ही वैक्सीनेशन के लिए सेशन साइट और समय के बारे में सूचना साझा की जाएगी.

अगर कोई शख्स सेशन साइट पर फोटो आईडी पेश नहीं कर पाया तो क्या उसे वैक्सीन मिलेगी?

रजिस्ट्रेशन और सेशन साइट पर वेरिफिकेशन के लिए फोटो आईडी अनिवार्य है ताकि सुनिश्चित किया जा सके कि इच्छित लाभार्थी को वैक्सीन दी जा रही है.

सेशन साइट पर किस तरह के सुरक्षात्मक उपाय और सावधानी का पालन करने की जरूरत है?

COVID-19 वैक्सीन लेने के बाद कम से कम आधे घंटे तक वैक्सीनेशन सेंटर पर आराम करना होगा.

  • अगर किसी तरह की बेचैनी महसूस हो तो नजदीकी हेल्थ अथॉरिटी, एएनएम, आशा कर्मी को सूचना दें.
  • मास्क, हैंड हाइजीन और फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन जारी रखें.

कैंसर, डायबिटिज, हाइपरटेंशन जैसी बीमारियों की दवा ले रहे लोग वैक्सीन ले सकते हैं?

हां, ऐसे लोग हाई रिस्क कैटेगरी में आते हैं. उन्हें COVID-19 वैक्सीन लेने की जरूरत होगी.

वैक्सीनेशन के बारे में लाभार्थी को जानकारी कैसे मुहैया कराई जाएगी?

ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के बाद मोबाइल नंबर पर SMS भेजकर वैक्सीनेशन की तारीख, जगह और समय के बारे में सूचित किया जाएगा. वैक्सीन की पूरी डोज लेने के बाद क्यूआर(QR) कोड आधारित सर्टिफिकेट भी मोबाइल नंबर पर भेज दिया जाएगा.

(स्वास्थ्य मंत्रालय , inclentrust.org के इनपुट के साथ)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!