मिशिगन में COVID-19: लॉकडाउन के बीच सीख रहे पियानो  और फारसी

COVID-19 महामारी के बीच मिशिगन कैंटन में बिजनेस ठप हो गया है. 

Updated19 May 2020, 05:53 AM IST
My रिपोर्ट
2 min read

वीडियो एडिटर: दीप्ति रामदास
प्रोड्यूसर: आस्था गुलाटी

मैं कैंटन, मिशिगन में एक ऑटोमोटिव सप्लायर कंपनी में मैटेरियल मैनेजर के तौर पर काम करता हूं. भारत और दुनिया के बाकी हिस्सों की तरह, कोरोनो वायरस महामारी ने अमेरिका में कई व्यवसायों को बंद कर दिया है. हर रोज मामले बढ़ रहे हैं. यहां कैंटन में जिंदगी इस बीच कैसे चल रही है, इसकी झलक आप देखिए.

मैं जिस इलाके में रहता हूं, वो ऑटोमोटिव सेक्टर के तौर पर जाना जाता है. जनरल मोटर्स, फोर्ड और फिएट क्रिसलर का हेडक्वॉर्डर यहां है. ये इलाका COVID-19 के कारण पूरी तरह से बंद है. यहां कई छंटनी हुई हैं, जिसकी वजह से तनाव का माहौल भी है.

मिशिगन ने 16 मार्च से स्कूल बंद कर दिए थे. मेरी छोटी बेटी ऑनलाइन क्लासेज ले रही है, जबकि बड़े एक म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट सीखने में समय बिता रहे हैं.वयस्क भी वे काम कर रहे हैं जिनके लिए उनके पास समय नहीं हुआ करता था. उदाहरण के लिए, मेरी पत्नी फारसी भाषा सीख रही है.

लॉकडाउन की शुरुआत में बहुत ज्यादा पैनिक बाइंग हो रही थी, लेकिन ये एक सप्ताह या 10 दिनों के भीतर कम हो गया क्योंकि सरकार ने आपूर्ति-चेन को बाधित नहीं होने दिया.

लगभग सभी किराने, फार्मेसी और हार्डवेयर स्टोर खुले हैं. बड़े मॉल बंद हैं. हालांकि, कुछ फूड आइटम की होम डिलीवरी उपलब्ध है. रेस्टोरेंट बंद हैं, लेकिन डिलीवरी की वजह से बिजनेस बचा हुआ है.

मैं यहां राष्ट्रीय स्तर पर मीडिया के रोल के बारे में भी बताना चाहूंगा. अमेरिकी मीडिया ने महामारी को परिपक्वता के साथ कवर किया है और किसी विशेष समुदाय के साथ कोरोना वायरस को नहीं जोड़ा है. मुझे लगता है कि अगर COVID-19 को एक समुदाय से जोड़ा जाता, तो स्थिति अस्थिर हो सकती थी.

मुझे उम्मीद है कि हर कोई इस नाजुक समय पर अपना और अपने परिवार का ख्याल रख रहा है. हम सभी को घर में रहना चाहिए, सामाजिक दूरी बनाए रखनी चाहिए और मानवता के भविष्य के लिए प्रार्थना करनी चाहिए.

(सभी 'माई रिपोर्ट' ब्रांडेड स्टोरिज सिटिजन रिपोर्टर द्वारा की जाती है जिसे क्विंट प्रस्तुत करता है. हालांकि, क्विंट प्रकाशन से पहले सभी पक्षों के दावों / आरोपों की जांच करता है. रिपोर्ट और ऊपर व्यक्त विचार सिटिजन रिपोर्टर के निजी विचार हैं. इसमें क्‍व‍िंट की सहमति होना जरूरी नहीं है.)

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 10 Apr 2020, 12:11 PM IST
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!