ADVERTISEMENT

रामविलास का 'बंगला' फ्रीज...चिराग को मिला 'हेलीकॉप्टर' और पारस को 'सिलाई मशीन'

चुनाव आयोग ने चिराग और पारस गुट को नया नाम और सिंबल दिया

Published
रामविलास का 'बंगला' फ्रीज...चिराग को मिला 'हेलीकॉप्टर' और पारस को 'सिलाई मशीन'
i

दो गुटों में बंट चुकी दिवंगत रामविलास पासवान (Ramvilas Paswan) की लोक जनशक्ति पार्टी को लेकर चुनाव आयोग ने बड़ा फैसला सुनाया है. उपचुनावों से पहले चुनाव आयोग ने चिराग पासवान और पशुपति पारस (Pashupati Paras) गुट को अलग-अलग नाम और चुनाव चिह्न आवंटित किया है. आगामी उपचुनाव में चिराग पासवान (Chirag Paswan) गुट की पार्टी का नाम लोक जनशक्ति पार्टी (राम विलास) और सिंबल 'हेलीकॉटर' होगा. जबकि पशुपति पारस गुट की पार्टी का नाम राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी होगा और वो 'सिलाई मशीन' सिंबल पर चुनाव लड़ सकेंगे.

ADVERTISEMENT

चुनाव आयोग के फैसले पर चिराग गुट के प्रवक्ता चंदन सिंह ने कहा कि चुनाव आयोग ने हमको रामविलास पासवान के नाम की इजाजत दे दी है. अब हम दोगुनी ऊर्जा के साथ बिहार में दो सीटों के उपचुनाव में जाएंगे. चंदन सिंह ने पशुपति पारस और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर साजिश के तहत पार्टी सिंबल को फ्रीज कराने का आरोप लगाया. हालांकि उनका दावा है कि वो दोनों उपचुनाव जीतेंगे.

वहीं पशुपति पारस गुट के प्रवक्ता श्रवण कुमार अग्रवाल ने कहा कि हम चुनाव आयोग के फैसले का स्वागत करते हैं. चुनाव आयोग एक संवैधानिक संस्था है, इसलिए जो लोग भी चुनाव आयोग के फैसले पर सवाल उठा रहे हैं, उन्हें उसका सम्मान करना चाहिए. जिस तरह दिवंगत रामविलास पासवान ने पार्टी को चलाया था, उसी तरह पशुपति पारस भी पार्टी को आगे बढ़ा रहे हैं. लोगों ने उन्हें ही असली नेता माना है, इसलिए हमें उम्मीद है कि चुनाव आयोग का अंतिम फैसला भी हमारे ही पक्ष में होगा.

ADVERTISEMENT

दरअसल रामविलास पासवान की मौत के बाद भतीजे चिराग पासवान और चाचा पशुपति पारस के बीच पार्टी पर अधिकार की लड़ाई चुनाव आयोग में चल रही है. हालांकि चुनाव आयोग ने अभी तक इसपर कोई अंतिम फैसला नहीं दिया है. लेकिन उपचुनावों को देखते हुए चुनाव आयोग ने 2 अक्टूबर को लोक जनशक्ति पार्टी के नाम और चुनाव चिह्न 'बंगला' को फ्रीज कर दिया था. चुनाव आयोग ने अंतरिम उपाय के तौर पर दोनों पक्षों को नया नाम और चिह्न चुनने को कहा था.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Speaking truth to power requires allies like you.
Q-इनसाइडर बनें
450

500 10% off

1500

1800 16% off

4000

5000 20% off

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
Check Insider Benefits
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें