ADVERTISEMENTREMOVE AD

गहलोत के साथ 100 से अधिक MLA, हरीश चौधरी बोले-नहीं है आंतरिक कलह

राजस्थान में नेतृत्व परिवर्तन की संभावओं से इनकार

Updated
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

पंजाब (Punjab) की तरह राजस्थान (Rajsthan) में भी नेतृत्व परिवर्तन की अटकलें आ रही हैं. लेकिन इस संभावना से इनकार करते हुए कांग्रेस नेता हरीश चौधरी ने कहा कि अधिकांश विधायक मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ हैं.

हरीश चौधरी राजस्थान के राजस्व मंत्री हैं, और पंजाब कांग्रेस में आंतरिक कलह को संभालने के लिए अजय माकन के साथ पर्यवेक्षक नियुक्त किए गए थे. हरीश ने कहा कि नेतृत्व परिवर्तन लोकतांत्रिक तरीके से किया गया था.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

न्यूज एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक मीडिया से बात करते हुए हरीश चौधरी ने कहा कि राजस्थान के 100 से अधिक विधायक मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ हैं. इसलिए, यहां पर पंजाब जैसी स्थिति बिल्कुल भी नहीं है. हालांकि नेताओं के बीच मतभेद हो सकते हैं लेकिन मुझे यहां पर कोई बंटा हुआ खेमा नहीं नजर आ रहा है.

पंजाब में कांग्रेस के दिग्गज नेता अमरिंदर सिंह की जगह दलित नेता चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री बनाया गया है.
पंजाब में जो भी हुआ लोकतांत्रिक तरीके से हुआ और पंजाब के विधायक नेतृत्व में बदलाव चाहते थे. पार्टी आलाकमान ने इसकी अनुमति दी और कांग्रेस विधायक दल की बैठक में एक प्रस्ताव पारित किया गया.
हरीश चौधरी, राजस्व मंत्री, राजस्थान

पिछले दिनों नई दिल्ली में पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट की राहुल गांधी के साथ मुलाकात पर, उन्होंने कहा कि पायलट कांग्रेस परिवार के सदस्य हैं और राहुल गांधी या प्रियंका गांधी वाड्रा से मिलना स्वाभाविक है.

राजस्थान में कैबिनेट फेरबदल की संभावना के बारे में उन्होंने कहा कि यह मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार है.

अशोक गहलोत सरकार पिछले साल सचिन पायलट के बगावत से बच गई थी, जो हाल के महीनों में फिर से सक्रिय हो गया है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×