ADVERTISEMENT

22 साल की लड़की की मौत कैसे हुई, जिसके बाद ईरान में भड़की 'एंटी हिजाब क्रांति'

Iran Hijab Protest: Mahsa Amini कौन थी, जिनकी मौत के बाद ईरान में आक्रोश?

Published
22 साल की लड़की की मौत कैसे हुई, जिसके बाद ईरान में भड़की 'एंटी हिजाब क्रांति'

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

हिजाब नहीं पहनने पर गिरफ्तार हुई महिला की मौत के बाद से ईरान की महिलाओं में भारी आक्रोश है. राजधानी तेहरान समेत ईरान की कई यूनिवर्सिटी में प्रशासन और पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया गया. 22 साल की महसा अमिनी को हिजाब नहीं पहनने पर गिरफ्तार किया गया था, जिसके कुछ दिन बाद उनकी मौत हो गई थी.

तीन दिन तक अस्पताल में कोमा में रहने के बाद 16 सितंबर को अमिनी की मौत हो गई. अमिनी की मौत का आरोप पुलिस पर लगा है. आरोप है कि हिरासत में अमिनी से मारपीट की गई, जिसके कारण उनकी मौत हो गई.

ADVERTISEMENT

महसा अमिनी कौन थी?

कुर्दिश महिला अमिनी पश्चिम में कुर्दिस्तान प्रांत के साकेज शहर की रहने वालीं थीं. उन्हें 13 सितंबर को तेहरान में एक मेट्रो स्टेशन के बाहर से हिरासत में लिया गया था. उनपर हिजाब नहीं पहनने और हाथ-पैर नहीं ढकने का आरोप लगाया गया.

चश्मदीदों के मुताबिक, डिटेंशन सेंटर ले जाने वाली पुलिस वैन के अंदर उनसे मारपीट भी की गई.

ADVERTISEMENT

पुलिस ने अमिनी की मौत पर क्या कहा?

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, तेहरान पुलिस के प्रमुख, होसेन रहीमी ने घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि वो नहीं चाहते कि इस तरह की घटना दोबारा हो. आरोपों को 'कायराना' बताते हुए रहीमी ने कहा कि अमिनी के साथ कोई मारपीट नहीं हुई थी.

पुलिस ने सफाई देते हुए कहा कि अमिनी की मौत हार्ट फेल्यर की वजह से हुई. वहीं, आंतरिक मंत्रालय ने कहा कि उन्हें पहले से शारीरिक समस्याएं थीं.

ADVERTISEMENT

आक्रोश में ईरान की महिलाएं

अमिनी की मौते के बाद से लगातार महिलाएं सड़कों पर सरकार और पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन कर रही हैं. कई महिलाओं ने विरोध में अपना हिजाब उतार दिया तो कई ने अपने बाल तक काट डाले. महिलाएं 'तानाशाह को मौत' जैसे नारे लगा रही हैं.

अमिनी के अंतिम संस्कार के बाद साकेज में कई लोगों ने सड़कों पर प्रदर्शन किया. स्थानीय गवर्नर के दफ्तर की तरफ बढ़ रहे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने ओपन फायर किया. रिपोर्ट्स के मुताबिक, प्रदर्शन में कई लोगों के घायल होने की भी खबर है.

सोशल मीडिया पर प्रदर्शन के कई वीडियो वायरल हो गए हैं, जिसमें देखा जा सकता है कि कैसे महिलाओं के अलावा पुरुष भी सड़कों पर पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
500
1800
5000

or more

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
मेंबर बनने के फायदे
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×