ADVERTISEMENT

UAE में भारतीय गेहूं के निर्यात पर 4 महीने के लिए रोक, Russia-Ukraine War है वजह

भारत ने 14 मई को गेहूं के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था

Published
UAE में भारतीय गेहूं के निर्यात पर 4 महीने के लिए रोक, Russia-Ukraine War है वजह
i

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

संयुक्त अरब अमीरात (UAE) ने भारत से आए गेहूं और गेहूं के आटे के निर्यात और पुन: निर्यात को चार महीने के लिए रोकने का आदेश जारी कर दिया है. दुनिया में अनाज के दूसरे सबसे बड़े उत्पादक देश भारत से आए गेहूं के निर्यात पर लगे इस अस्थायी रोक की जानकारी UAE की राज्य समाचार एजेंसी WAM ने बुधवार, 15 जून को दी.

ADVERTISEMENT

UAE के अर्थव्यवस्था मंत्रालय ने इस कदम के पीछे वैश्विक स्तर पर व्यापार के प्रवाह में लगी रुकावट का हवाला दिया. साथ ही उन्होंने कहा कि भारत ने घरेलू खपत के लिए UAE को गेहूं के निर्यात को मंजूरी दी थी.

मंत्रालय ने अपने एक बयान में कहा है कि 13 मई से पहले UAE में लाए गए भारतीय गेहूं का निर्यात या पुन: निर्यात करने की इच्छा रखने वाली कंपनियों को पहले अर्थव्यवस्था मंत्रालय के पास आवेदन जमा करना होगा.

उन्हें वे सभी डॉक्यूमेंट और फाइलें जमा करनी होंगी जो शिपमेंट से संबंधित डेटा, उसकी ओरिजिन, लेन-देन की तारीख वेरिफाई करने में मदद करती हैं और जिसकी मंत्रालय को इस संबंध में आवश्यकता हो सकती है.

गौरतलब है कि UAE और भारत ने फरवरी 2022 में एक व्यापक व्यापार और निवेश समझौते पर हस्ताक्षर किए थे. इस समझौते के तहत दोनों देश एक-दूसरे के सामानों पर सभी शुल्कों (टैरिफ) में कटौती करना चाहते हैं और अगले पांच सालों के अंदर अपने सालाना व्यापार को 100 अरब डॉलर तक बढ़ाने का टारगेट रखा है.

व्यापक आर्थिक भागीदारी व्यापार समझौते (CEPA) के रूप में जाना जाने वाला यह समझौता 1 मई 2022 को प्रभावी हुआ है.

ADVERTISEMENT

भारत ने गेंहू के निर्यात पर लगाया था बैन 

मालूम हो कि भारत ने 14 मई को कई देशों के लिए एक आश्चर्यजनक कदम उठाते में गेहूं के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था. सिर्फ उन देशों को निर्यात करने की अनुमति दी गयी जिसको पहले से लेटर ऑफ क्रेडिट (एलसी) जारी का दिया गया था या जो खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए जूझ रहे थे.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार 14 मई को लगे बैन के बाद से भारत ने निर्यात के लिए 469,202 टन गेहूं के शिपमेंट की अनुमति दी है.

गौरतलब है कि रूस-यूक्रेन युद्ध छिड़ने के बाद रूस से UAE का गेहूं आयात बाधित हो गया. लाइव मिंट की रिपोर्ट के अनुसार UAE उन पांच देशों में से एक है, जिन्होंने भारत द्वारा 13 मई को गेहूं के निर्यात पर बैन लगाने के बाद डिप्लोमैटिक चैनलों के माध्यम से भारतीय गेहूं मांगा है. रिपोर्ट के अनुसार भारतीय गेहूं की तलाश में अन्य देश इंडोनेशिया, ओमान, बांग्लादेश और यमन हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
450

500 10% off

1620

1800 10% off

4500

5000 10% off

or more

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह

गणतंत्र दिवस स्पेशल डिस्काउंट. सभी मेंबरशिप प्लान पर 10% की छूट

मेंबर बनने के फायदे
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×