यूपी में SSF को खास पावर, क्यों पड़ी स्पेशल फोर्स की जरूरत?

ऐसा क्या हुआ कि UP सरकार को स्पेशल फोर्सेज एक्ट लागू करने की जरूरत पड़ गई? 

Published
पॉडकास्ट
1 min read
ऐसा क्या हुआ कि UP सरकार को स्पेशल फोर्सेज एक्ट लागू करने की जरूरत पड़ गई? 
i

रिपोर्ट: फ़बेहा सय्यद
गेस्ट: वकील रिया घोष और घनश्याम तिवारी, स्पोक्सपर्सन समाजवादी पार्टी
असिस्टेंट एडिटर: मुकेश बौड़ाई
म्यूजिक: बिग बैंग फज

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने एक ऐसा नोटिफिकेशन जारी किया है, जिसे लेकर अब बहस शुरू हो चुकी है. इसके मुताबिक अब यूपी में एक स्पेशल सिक्योरिटी फोर्स का गठन किया गया है, जिसके पास कुछ स्पेशल पावर होंगी. यानी इस फोर्स को किसी को भी गिरफ्तार करने के लिए वारंट की जरूरत नहीं होगी. साथ ही बिना सर्च वारंट के तलाशी भी ले सकती है. लेकिन अब इसे यूपी में अपराध के कम करने के अलावा सरकार के एक हथियार के तौर पर देखा जा रहा है. लोग इसके गलत इस्तेमाल की भी आशंका जता रहे हैं.

अब सवाल ये है कि ऐसा क्या हुआ कि UP सरकार को स्पेशल फोर्सेज एक्ट लागू करने की जरूरत पड़ गई? इससे क्या खतरे हो सकते हैं? और विपक्षी नेताओं का इस पर क्या कहना है, इस सब पर ही आज इस पॉडकास्ट में बात करेंगे. पॉडकास्ट में सुनिए लॉयर, रिया घोष को और साथ ही सुनिए समाजवादी के स्पोक्सपर्सन पार्टी घनश्याम तिवारी को भी.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!