मोदी सरकार को लेकर क्या है साउथ-सेंट्रल मुंबई सीट के लोगों की राय?

मोदी सरकार को लेकर क्या है साउथ-सेंट्रल मुंबई सीट के लोगों की राय?

न्यूज वीडियो

महाराष्ट्र की मुंबई साउथ-सेंट्रल लोकसभा सीट पर 29 अप्रैल को चौथे फेज में वोट डाले जाएंगे. ये इलाका शिवसेना का गढ़ कहा जाता है. पिछली बार शिवसेना के राहुल शेवाले की यहां से जीत हुई थी. 2019 चुनाव को लेकर यहां के मुद्दों और आने वाली सरकार से अपेक्षा को लेकर क्विंट ने स्थानीय लोगों से बात की.

कुछ लोग मोदी सरकार के पांच साल के कामकाज से बिलकुल खुश नहीं हैं वहीं कुछ लोगों को सरकार का कामकाज बहुत पसंद आया.

मैं पांच साल के मोदी सरकार से बिलकुल खुश नहीं हूं.हमारे पास जो काम था वो काम ही नहीं है आज कल. लोग पैसे देने को तैयार नहीं हैं.हम लोग बैठे हुए हैं.
रामकृष्ण, कंसल्टेंट
पांच साल में बहुत काम हुआ है. मेट्रो से लोगों को रोजगार मिला है. सरकार बहुत सारे नए-नए स्कीम लेकर आई है. इन पांच सालों के पहले ऐसा काम कभी नहीं हुआ.
स्थानीय, दादर

ये भी पढ़ें : चुनावी चौपाल:बीड में सुविधाएं तो मिलीं लेकिन रोजगार पर उम्मीद बाकी

कुछ लोगों में स्थानीय नेता और केंद्र सरकार दोनों से नाराजगी है. लोगों का कहना है कि किसी भी पार्टी पर उनका भरोसा नहीं रह गया है.

मैं सोच रहा हूं कि वोट दूं या नहीं दूं. कोई पार्टी वोट लेने के काबिल नहीं है. किसी पार्टी ने अब तक ढंग का काम नहीं किया.
स्थानीय, दादर, मुंबई
शिवसेना ने यहां से मौजूदा सांसद राहुल शेवाले को टिकट दिया है. वहीं कांग्रेस की ओर से एकनाथ गायकवाड मैदान में हैं. 2014 में राहुल शेवाले ने कांग्रेस के दो बार के सांसद एकनाथ गायकवाड को हराकर जीत हास‍िल की थी.

यहां के लोगों की राय बंटी हुई है. स्थानीय सांसद से उनकी नाराजगी है. मोदी सरकार के काम से कुछ लोग खुश है तो कुछ नाराज. रोजगार यहां भी मुख्य मुद्दा है. सर्जिकल स्ट्राइक के मुद्दे पर लेकिन लोगों का समर्थन मोदी सरकार को है. लेकिन मुकाबला यहां शिवसेना और कांग्रेस के बीच ही है.

ये भी पढ़ें : इस लोकसभा चुनाव में क्या होंगे मुंबई की धारावी के मुद्दे? 

(हैलो दोस्तों! WhatsApp पर हमारी न्यूज सर्विस जारी रहेगी. तब तक, आप हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our न्यूज वीडियो section for more stories.

न्यूज वीडियो

वीडियो