ADVERTISEMENTREMOVE AD

राज ठाकरे ने बीजेपी ही नहीं चुनाव आयोग को भी मुश्किल में डाला

कांग्रेस के स्टार प्रचारक के तौर पर नजर आ रहे हैं राज ठाकरे!

Published
छोटा
मध्यम
बड़ा

वीडियो एडिटर: संदीप सुमन

वीडियो प्रोड्यूसर: मौसमी सिंह

ADVERTISEMENTREMOVE AD

महाराष्ट्र में MNS प्रमुख राज ठाकरे आज कल कुछ ज्यादा चुनावी सभाओं को संबोधित कर रहे हैं. हालांकि, लोकसभा चुनाव में राज ठाकरे की पार्टी का एक भी उम्मीदवार चुनाव में नहीं है, लेकिन सभाओं में वो पीएम मोदी के खिलाफ हमला करते दिख रहे हैं.

जाहिर है बीजेपी की नजर भी इस पर है. बीजेपी ने सवाल उठाया है कि राज ठाकरे किसके लिए चुनाव प्रचार कर रहे हैं. चुनाव आयोग को चिट्ठी लिखकर बीजेपी ने मांग की है कि राज ठाकरे की प्रचार सभा का खर्च, आयोग स्थानीय उम्मीदवार के खर्च में जोड़े. बीजेपी की इस मांग ने चुनाव आयोग को भी असमंजस में डाल दिया है.

बीजेपी क्यों है परेशान?

राज ठाकरे की सभा में जोरदार भीड़ देखने को मिल रही है और वो अपने भाषणों में पीएम मोदी को सीधे निशाने पर ले रहे हैं.

जनता से वो ये कह रहे हैं-

मोदी-शाह की जोड़ी को तख्त से दूर कर दो और झूठ की राजनीति करने वालों को सबक सिखाओ.

लेकिन राज ठाकरे की चालाकी ये है कि वो ये नहीं बता रहे हैं आखिर वोट किसे दें?

दिलचस्प है कि एक भाई यानी शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे जहां दिल्ली के तख्त पर ‘भगवा’ लहराने को खुद की तारीफ बता रहे हैं, तो दूसरा भाई यानी राज ठाकरे इसी के खिलाफ जंग छेड़े हुए हैं.
0

राज ठाकरे जब नहीं बता रहे हैं कि वोट किसे देना है तो चुनाव आयोग असमंजस में पड़ गया है कि आखिर ये सभाएं किसके पक्ष में की जा रही हैं. इस पूरे मसले पर महाराष्ट्र चुनाव आयोग ने केंद्रीय चुनाव आयोग से हस्तक्षेप करने की मांग की है,

बीजेपी का कहना है कि चुनाव आयोग को इस मुद्दे पर जल्द फैसला लेना होगा नहीं तो नई तरह की प्रथा की शुरुआत होगी.आने वाले चुनाव में कई लोग इस तरीके का फायदा उठा सकते हैं. वे चुनाव नहीं लड़ेंगे लेकिन बड़ी सभा के जरिये विरोध में प्रचार करेंगे.

कहा जा रहा है कि देश में जब से चुनाव आचार संहिता का सिस्टम शुरू हुआ है उसके बाद से इस तरह का मामला पहली बार सामने आया है.

राज ठाकरे भी चुन-चुनकर खास जगहों पर अपनी सभाएं कर रहे हैं. कांग्रेस पार्टी ने राज ठाकरे को महागठबंधन में शामिल करने को लेकर विरोध दर्ज कराया था, उसी कांग्रेस पार्टी के नेताओं की संसदीय सीट वाले इलाके में राज ठाकरे की सभाओं की सबसे ज्यादा मांग है. महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष अशोक चव्हाण के नांदेड़ में राज ठाकरे ने पहली सभा की. दूसरी सभा कांग्रेस के सुशील कुमार शिंदे के संसदीय इलाके सोलापुर में करना है.

शरद पवार के परिवार के सदस्यों के संसदीय क्षेत्र में भी राज ठाकरे मोदी के खिलाफ हुंकार भरेंगे. बारामती से 3 बार चुनावी मैदान में उतरी सुप्रिया सुले के साथ अजित पवार के बेटे पार्थ पवार जिस मावल लोकसभा सीट से मैदान में उतरे हैं, वहां भी राज ठाकरे की सभा होगी.

यानी राज ठाकरे सिर्फ ये नहीं कह रहे हैं कि कांग्रेस को वोट करो लेकिन कांग्रेस के स्टार प्रचारक जरूर नजर आ रहे हैं. भीड़ भी उन्हें हाथों हाथ ले रही है!

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×